राजकोट लोकसभा मौजूदा सांसद पर बीजेपी का दांव, कांग्रेस से ललित कगथरा

राजकोट/गुजरात हार्दिक सरसौराः सौराष्ट्र में आने वाला राजकोट गुजरात का चैथा सबसे बड़ा शहर है। राजकोट लोकसभा सीट पर 23 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे। इस सीट पर वैसे तो बीजेपी का कब्जा है लेकिन कांग्रेस कड़ी टक्कर दे रही है। यहां से बीजेपी ने मौजूदा सांसस मोहन भाई कुंडारिया पर दांव लगाया है। जबकि कांग्रेस ने ललित कगथरा को उम्मीदवार बनाया है।

सौराष्ट्र में आने वाला राजकोट गुजरात का चैथा सबसे बड़ा शहर है। राजकोट लोकसभा सीट पर 23 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे। इस सीट पर वैसे तो बीजेपी का कब्जा है लेकिन कांग्रेस कड़ी टक्कर दे रही है। यहां से बीजेपी ने मौजूदा सांसस मोहन भाई कुंडारिया पर दांव लगाया है। जबकि कांग्रेस ने ललित कगथरा को उम्मीदवार बनाया है। राजकोट लोकसभा सीट पर कुल 11 उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। राजनीतिक तौर पर राजकोट लोकसभा क्षेत्र भारतीय जनता पार्टी का गढ़ रहा है। तीन दशक में यहां सिर्फ एक बार कांग्रेस को जीत नसीब हुई है। 2014 के चुनाव में भी राजकोट लोकसभा सीट से बीजेपी को जीत मिली थी।
राजकोट लोकसभा सीट पर 1962 में पहली बार चुनाव हुआ और इसमें कांग्रेस ने जीत दर्ज की। कांग्रेस के टिकट पर नवलशंकर ने यहां से पहला चुनाव जीता। इसके बाद 1967 में स्वतंत्र पार्टी को जीत मिली। 1971 के आम चुनाव और 1972 के उपचुनाव में कांग्रेस ने परचम लहराया। आपातकाल के बाद 1977 में जो चुनाव हुआ, उसमें भारतीय लोकदल ने जीत दर्ज कीण् इसके बाद 1980 और 1984 के आम चुनाव में कांग्रेस को इस सीट से जीत मिली। लेकिन 1989 के चुनाव भारतीय जनता पार्टी की जीत का जो सिलसिला शुरू हुआ, वह 2009 में आकर रुका 1989,1991,1996,1998,1999 और 2004 के चुनाव बीजेपी जीतती रही। इसके बाद 2009 में कांग्रेस ने वापसी की और कुंवर भाई बावलिया ने बीजेपी उम्मीदवार को शिकस्त दी।

Share This Post

Post Comment