कौन हैं सिंगर किंजल दवे, जिनके गाने ‘चार-चार बंगड़ी …

yअहमदाबाद, हार्दिक हरसौरा : चार-चार बंगड़ी गाड़ी ‘गीत से मशहूर किंजल दवे को कमर्शियल अदालत ने गीत नहीं गाने का अंतरिम आदेश दिया है। ऑस्ट्रेलिया में काठियावाड़ी राजा के नाम से मशहूर एक गुजराती युवक ने गाने पर कॉपीराइट का दावा किया है। उनका कहना है कि उन्होंने इस गीत को लिखा है और गाया है, और किंजल दवे ने इसे कॉपी किया है। युवक के दावे के अनुसार, उन्होंने 2016 में गाना अपलोड किया था गुजरात के कुछ सबसे बड़े सितारों के बीच “किंजल दवे” नाम की सिंगर धूम मचा रही है। उत्तर गुजरात के एक छोटे से गाँव में एक गरीब अद्वैत ब्राह्मण परिवार में जन्मी किंजल दावे गुजरात सहित विदेश में भी गरबा, शादी के गीत, लोक दायरों सहित कई कार्यक्रमों से प्रसिद्ध हुई हैं। केवल 17 वर्षीय किंजल दवे, जिन्होंने अपनी सुरीली आवाज़ और मधुर आवाज़ से लाखों प्रशंसकों का दिल जीता, उन्होंने साबरकांठा जिले के प्रतिंज में कॉलेज की पढ़ाई की। कार्यक्रम के समय, लक्जरी कार में प्रवेश करने वाली किंजल दावे के पास फिलहाल एक इनोवा कार है। परिवार वाले किंजल दवे को कांजी कहते हैं। किंजल का छोटा भाई आकाश पढ़ाई कर रहा है। किंजल दवे के पिता और उनके मित्र मनुभाई रबारी अन्य कलाकारों के लिए गीत लिखते थे। किंजल, जो संगीत के माहौल में पाली-बढ़ी को बचपन से ही गाने गाने का शौक था। थोड़े समय पहले ही आया हुआ किंजल दावे का “चार-चार बंगड़ी वाड़ी” और “वरराजा नई गाडी” गीत पूरे गुजरात में खूब प्रसिद्ध हुआ है। आज ज्यादातर गुजरातियों के मुँह पर ये गाना गुनगुनाते हुए देखा जा सकता है। किंजल दवे ने संगीत की दुनिया में 100 से अधिक एल्बम बनाए हैं। किंजल दवे फिलहाल अपने परिवार के साथ अहमदाबाद में रह रही हैं।

Share This Post

Post Comment