जाकिर मूसा के पंजाब प्लेन को लगा बढ़ा झटका

जालंधर, लुकेश : सुरक्षा बलों ने अंसार गजवत-उल-हिंद के 2 खतरनाक आतंकियों गाजी व रऊफ को मारकर बड़ी सफलता हासिल की है। गाजी व रऊफ के मारे जाने से इस खतरनाक आतंकी संगठन के मुखिया जाकिर मूसा के पंजाब प्लान को तगड़ा झटका लगा है। दरअसल पंजाब में दहशत फैलाने की मूसा ने अपने इन दोनों खासमखास आतंकियों को जिम्मेदारी सौंपी थी। पंजाब में पुलिस थानों पर हमला करने के साथ-साथ पुलिस गश्ती दल पर हमला करने की पूरी प्लानिंग भी इन दोनों आतंकियों के जिम्मे थी, मगर इन दोनों आतंकियों के एनकाऊंटर में मारे जाने के बाद अब मूसा के पूरी रणनीति फेल होती नजर आ रही है। गाजी व रऊफ को न केवल पाकिस्तान की आई.एस.आई. ने हथियार चलाने की ट्रेङ्क्षनग दी थी, बल्कि जाकिर मूसा ने इन दोनों आतंकियों को पंजाब समेत उत्तर भारत के कई इलाकों में बम विस्फोट व पुलिस को टारगेट करने के लिए चुना था। इसके लिए बाकायदा जाकिर मूसा ने अपने स्तर पर जे. एंड के. में इन दोनों खतरनाक आतंकियों को वारदात के हर गुर सिखाए थे। वारदात के साथ-साथ गाजी व रऊफ को भोले-भाले इंजीनियरिंग के छात्रों को अपने जाल में फंसाने की ड्यूटी भी सौंपी गई थी। मकसूदां थाने पर हमला करने वाले शाहिद व फाजिल को भी गाजी व रऊफ ने ही अपने जाल में फंसाया था और पंजाब के कई कालेजों के अन्य इंजीनियरिंग स्टूडैंट भी इन दोनों आतंकियों के संपर्क में थे। उन्हें डरा-धमकाकर या मोटी रकम का लालच देकर आतंकी वारदातों में धकेला जा रहा था। पंजाब के कई इलाकों में बम विस्फोट की जिम्मेदारी भी इन्हीं दोनों आतंकियों के कंधों पर थी। खुफिया एजैंसियों ने बार-बार जाकिर मूसा के पंजाब कनेक्शन के बारे में पंजाब पुलिस को अलर्ट किया था। दरअसल इलाके की पूरी रेकी करने के साथ-साथ वारदात की जिम्मेदारी जाकिर मूसा ने गाजी व रऊफ को ही सौंप रखी थी।

Share This Post

Post Comment