भूमि पूजन द्वारा संस्थान की महाकुम्भ में भागीदारी

ffदिल्ली, अरविंद यादव :

प्रयागस्य तु सर्वे ते कलां नार्हन्ति षोडशीम। एवं ज्ञानं योगश्र्च तीर्थ चौव युधिष्ठिर।
बहुक्लेशेन युज्यन्ते तेन यान्ति पराम् गतिम्। त्रिकाल जायतेज्ञानं स्वर्गलोकं गमिष्यति।।

(मत्स्य पुराण 110/19-20)

गुरुदेव श्री आशुतोष महाराज जी के दिशा-निर्देशन में दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान विभिन्न सामाजिक एवं आध्यात्मिक गतिविधियों द्वारा समाज उत्थान एवं विश्व शांति के लक्ष्य को पूर्ण करने में निष्काम भाव से संलग्न है। शास्त्र-ग्रंथों पर आधारित श्रीमदभागवत कथा ज्ञान यज्ञ, श्रीराम कथामृत, श्रीकृष्ण कथा, गौ कथा, शिव कथा, हरि कथा व अन्य आध्यात्मिक कार्यक्रमों द्वारा संस्थान समाज को पिछले कई दशकों से जागरूक करता आ रहा है। संस्थान के द्वारा चलाये जा रहे सामाजिक प्रकल्पों से समाज लाभान्वित हो रहा है। संस्थान के विभिन्न प्रकल्प है- मंथन- अभावग्रस्त बच्चों हेतु संपूर्ण शिक्षा प्रकल्प, अंतरक्रांति- बंदी सुधार कार्यक्रम, अंतर्दृष्टि- नेत्रहीन व विकलांग वर्ग की सहायतार्थ, आरोग्य- संपूर्ण स्वास्थ्य कार्यक्रम, बोध- नशा उन्मूलन कार्यक्रम, कामधेनु- गौ संरक्षण, संवर्धन एवं नस्ल सुधार कार्यक्रम, संरक्षण- पर्यावरण संरक्षण कार्यक्रम, संतुलन- लिंग समानता कार्यक्रम, इत्यादि। कुम्भ मेला प्रयागराज . 2019 में संस्थान द्वारा भव्य कैम्प लगाया जा रहा है। जिसमें संस्थान द्वारा भव्य स्तर पर- श्रीकृष्ण कथा, श्रीराम कथा, श्रीमद्भागवत कथा इत्यादि एवं विलक्षण योग शिविर, आयुर्वेदिक स्वास्थ्य शिविर, यज्ञ व वैदिक मंत्रोच्चारण, ध्यान शिविर, अध्यात्म.विज्ञान प्रदर्शनी, सामूहिक भोज व ज्ञानयज्ञ सुनिश्चित किया गया है। इनका राष्ट्रीय चैनल पर प्रसारण भी किया जाएगा। संस्थान के शिविर निर्माण से पहले कुम्भ मेला में भूमि पूजन किया गया जिसमें गणमान्य मुख्य अतिथि एडी एम. श्री दयानंद प्रसाद जी, सेक्टर 7 मजिस्ट्रेट. श्री राजेश शाह जी, ओ एस डी. श्री रमेश चन्द्र मिश्रा जी, सेक्टर 7 लेखपाल श्री संदीप जी की उपस्थिति रही। स्थान अमिताभ पुलिया, सलोरी मार्ग, निकट गंगा घाट, बजरंगदास मार्ग, सेक्टर-7, प्रयागराज कुम्भ।

Share This Post

Post Comment