रयात-बाहरा यूनिवर्सिटी में विज्ञान और प्रौद्योगिकी पर सेमिनार आयोजन

122

मोहाली, जगदीश सिंह : रयात बाहरा यूनिवर्सिटी स्कूल आॅफ साईंस की तरफ से आयोजित विज्ञान और प्रौद्यौगिकी में प्रचलित आधुनिक तकनीक विषय पर एक सेमिनार में चोटी के विज्ञानिकों ने हिस्सा लिया । इस मौके स्कूल आॅफ साईंसज़ की डीन डाॅ. हरविन्दर कौर और यूनिवर्सिटी रजिस्ट्रार डाॅ. ओ.पी.मिड्डा पहुंचे । विज्ञानी डायरेक्टर डाॅ. अखिलेश शर्मा ग्रुप डायरेक्टर, साईंटिस्ट जी.और डाॅ. प्रमोद सोनी, संयुक्त डायरेक्टर, साईंटिस्ट एफ, टर्मिनल बैलिस्टिक रिर्सच लैब आॅफ डिफेंस रिर्सच ऐंड डेवलपमेंट आर्गेनाईजेशन, चण्डीगढ़ का स्वागत किया। यह सेमिनार दो सेशन में आयोजित किया गया । पहले सेशन में डाॅ. अखिलेश शर्मा ने रक्षा सेवाओं में डीआरडीओ की भूमिका को उजागर किया और टर्मिनल बैलिस्टिक रिसर्च लैब की अलग अलग सेवाओं और नीतियों के बारे में जानकारी प्रदान की। दूसरे सेशन दौरान डाॅ. प्रमोद सोनी ने इस बारे में बात की कि उदयोग और बचाव पक्षों के लिए लाभकारी सिद्ध करने के लिए कुदरत द्वारा नियुक्त किये गए बुनियादी विज्ञान के साथ सम्बन्धित खोज का शोषण किया जा सकता है। इस सेमिनार में 300 से अधिक अध्यापकोंं, खोजकारों और विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया, जिसमें ध्यान रखा गया था कि नये विचारों के बारे में विज्ञान और प्रौद्यौगिकी के आपसी सबंधों की कैसे ज़रूरत है। डाॅ. कौर ने अपने शुरूआती भाषण में मा्हरों का स्वागत किया और राष्ट्र निर्माण में विज्ञान और प्रौद्यौगिकी की भूमिका पर ज़ोर दिया। इस मौके विद्यार्थियों को ओपन इंटरैक्शन शेशन के अलग-अलग स्तरों और डीआरडीओ के ऐंटरी गेटवे के बारे में जानकारी प्रदान की गई। प्रोग्राम के अंत में कोऑर्डिनेटर डाॅ. रजनी र्गग ने आए मेहमानों का धन्यवाद किया।

Share This Post

Post Comment