खंभाळिया में किसानों ने यार्ड में ही जलाई मूंगफली

जामनगर, हार्दिक हरसौरा : मूंगफली की समर्थन मूल्य पर खरीदी शुरू होने के साथ ही राजकोट के बाद खंभाळिया में भी बवाल शुरू हो गया है। बोरी में 35 की जगह 30 किलो भरने की मांग के साथ किसानों ने शुक्रवार को मार्केट यार्ड में ही मूंगफली जलाकर प्रदर्शन किया। उधर, जामनगर मार्केट यार्ड में खरीदी कार्य धीमी गति चलने का आरोप लगाते हुए किसानों ने रोष व्यक्त किया है। बारदान में 30 की जगह 35 किलो मूंगफली भरने के मुद्दे पर गुरुवार से ही राजकोट से लेकर खंभाळिया आदि यार्डों में किसानों ने विरोध प्रदर्शन किया। खंभाळिया यार्ड में लगातार दूसरे दिन शुक्रवार को भी किसानों ने वजन को लेकर हंगामा किया और मूंगफली जलाकर रोष व्यक्त किया। खंभाळिया मार्केट यार्ड में प्रदर्शन कर रहे किसानों का कहना है कि राज्य सरकार की घोषणा के अनुसार बारदान में 30 किलो मूंगफली भरनी है लेकिन खंभाळिया यार्ड में बारदान में 35 किलो मूंगफली भरने का कहा जा रहा है, जिससे किसानों में रोष है। ऐसे में किसानों ने मार्केट यार्ड में मूंगफली की होली जलाई और विरोध प्रदर्शन किया। ज्ञापन में यह लिखा कलक्टर को दिए गए ज्ञापन में लिखा है कि 10 जुलाई के आसपास बरसात हुई, 25 जुलाई के निकट बुवाई की गई थी। 15 अक्टूबर के आसपास मूंगफली की उपज शुरू हुई। मूंगफली की लाइफ 10 से 120 दिन की होती है, लेकिन वर्तमान समय में मूंगफली की लाइफ 80 दिन की ही है। यदि कच्ची मूंगफली को खोदा जाए तो बारदान में 35 किलो नहीं भरी जा सकती। इस संबंध में पहले भी शिकायत की थी, लेकिन सरकार की ओर से कोई कार्रवाई नहीं की गई। गुरुवार को मूंगफली को लेकर यार्ड में पहुंचे, लेकिन बारदान में वजन के मुद्दे पर हंगामा शुरू हो गया था। किसानों की मांग है कि बारदान में 30 किलो मूंगफली भरी जाए। ऐसा नहीं हुआ तो चेतावनी दी गई है। मूंगफली भरे वाहनों को खरीदी केन्द्र पर ही छोड़कर किसान चले जाएंगे, जिसकी जिम्मेदारी सरकार की होगी। 40 में से 19 किसानों से ही खरीदी मूंगफली उधर, जामनगर मार्केट यार्ड में भी मूंगफली की खरीदी का कार्य धीमी गति से चलने के कारण किसानों में रोष व्याप्त है। प्रथम दिन गुरुवार को 50 किसानों को मूंगफली के साथ बुलाया गया था, लेकिन 40 किसान ही आए थे। उनमें से भी सिर्फ 19 किसानों से मूंगफली खरीदी गई थी। बाकी 21 किसानों के साथ-साथ शुक्रवार को नए 30 किसानों को बुलाया गया। पौन घंटे में एक ही किसान से खरीदी मूंगफली ! राजकोट सहित जिले के नौ मार्केटिंग यार्डों में समर्थन मूल्य पर मूंगफली खरीदी की प्रक्रिया धीमी चलने के कारण किसानों में नाराजगी व्याप्त है। पौन घंटे में सिर्फ एक किसान से मूंगफली खरीदने के चलते किसानों की लम्बी लाइन लगी है। राजकोट जूना मार्केटिंग यार्ड में तीन तहसीलों से मूंगफली की खरीदी प्रक्रिया शुक्रवार को दूसरे दिन धीमी रही। गुरुवार को राजकोट जिले से 45 हजार किलो मूंगफली की खरीदी की गई थी। जिले के कुल 247 किसानों की मूंगफली खरीदी की गई जिनमें से 4 किसानों का माल कमजोर निकलने से रिजेक्ट किया गया। जसदण के तीन व लोधिका के एक किसान की मूंगफली कचरे वाली व सेम्पल में फेल होने से चारों किसानों की मूंगफली रिजेक्ट की गई। इस दौरान दूसरे दिन शुक्रवार को भी जूना मार्केट यार्ड में बड़ी संक्या में किसान पहुंचे, लेकिन प्रक्रिया धीमी होने से शिकायत उच्चाधिकारियों तक पहुंची है।

Share This Post

Post Comment