कांग्रेस का दावा, “अहमदाबाद का नाम बदलने की, बीजेपी की योजना के खिलाफ हैं लोग”

अहमदाबाद, हार्दिक हरसौरा : गुजरात कांग्रेस ने सोमवार को दावा किया कि अहमदाबाद के लोगों ने प्रशासन को शहर का नाम बदलकर कर्णावती करने से रोकने के लिए ‘जनांदोलन’ शुरु किया है जबकि विश्व हिंदू परिषद ने ऐसा करने वालों को चेतावनी दी है। गुजरात कांग्रेस के प्रमुख अमित चावड़ा ने सोमवार को कहा कि लोगों की भावना इस ऐतिहासिक शहर से जुड़ी है।
उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘अहमदाबाद एक ऐतिहासिक शहर है। यूनेस्को ने उसे धरोहर शहर का प्रतिष्ठित खिताब दिया है। हम इस शहर के बाशिंदे होने में गर्व महसूस करते हैं। लोगों की भावनाएं पीढ़ियों से इस शहर से जुड़ी हैं।’ उन्होंने दावा किया, ‘अहमदाबाद के लोगों ने यह सुनिश्चित करने के लिए आंदोलन शुरु किया है कि शहर का नाम न बदला जाए।’ कांग्रेस विधायक ने लिखा रूपाणी को पत्र “गुजरात कांग्रेस के विधायक ग्यासुद्दीन शेख ने सोमवार को रूपाणी को पत्र लिखकर धमकी दी कि यदि बीजेपी सरकार नाम बदलने की दिशा में आगे बढ़ती है तो वह आंदोलन छेड़ेंगे। उन्होंने पत्र में भाजपा पर लोकसभा चुनाव से पहले मतदाताओं का ध्रुवीकरण की कोशिश करने का आरोप लगाया। उधर, कांग्रेस के रुख से नाराज विहिप ने सोमवार को चेतावनी दी कि अहमदाबाद का नाम कर्णावती करने की प्रक्रिया बाधित करने के किसी भी प्रयास को हिंदू बर्दाश्त नहीं करेंगे.
मुख्यमंत्री ने कहा था कि अगले लोकसभा चुनाव से पहले बदला जा सकता है नाम। बता दें 8 नवंबर को मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने कहा था कि अगले लोकसभा चुनाव से पहले नाम बदला जा सकता है। उन्होंने कहा था, ‘‘लोग लंबे समय से मांग कर रहे हैं कि अहमदाबाद का नाम बदलकर कर्णावती किया जाए। सरकार इस मांग पर विचार कर रही है। (यह पता करने के लिए) विचार विमर्श प्रक्रिया शुरु हो गयी है कि क्या कानूनी रुप से हम ऐसा कर सकते हैं। विचार विमर्श के बाद हम ठोस कदम उठाएंगे।

Share This Post

Post Comment