रानीवाड़ा निर्वाचन सीट के लिए एकमत हुए लोग

मदुरई, राहुल : रानीवाड़ा विधानसभा क्षेत्र में बिश्नोई समाज कई वर्षों से कांग्रेस पार्टी का वोट माना गया है। साथियों, रतनाराम जी के समय में विश्नोई समाज कांग्रेस पार्टी का मजबूत वोट बैंक था और चौधरी रतनाराम जी हमारे बिश्नोई समाज के बड़े बच्चों को का बड़ा सम्मान करते थे उसके बाद किन्ही कारणों से रतनाराम जी का कांग्रेस पार्टी ने टिकट काट दिया तब रतनाराम जी ने निर्दलीय चुनाव लड़ा उस समय भी विश्नोई समाज से दिल से रतनाराम जी के साथ में खड़ा था उस समय रतनाराम जी की चुनावों में हार हुई फिर अगले चुनाव में हीरालाल जी विश्नोई निर्दलीय चुनाव लड़ा उसमें भी बिश्नोई समाज और दूसरे समाज के लोगों ने मिलकर हीरालाल जी को करीबन 26000 वोट दिलवाई 26000 वोटों के कारण ही रतन जी रानीवाड़ा से विजय हुए अगर हीरालाल जी निर्दलीय खड़े नहीं होते तो 26000 में से करीबन 20000 वोट नारायण सिंह जी को मिलते हैं उस समीकरण के हिसाब से नारायण सिंह जी वह भी चुनाव जीते उस समीकरण को देखकर नारायण सिंह जी ने विश्नोई समाज को मान मर्यादा जो रतनाराम जी चौधरी का परिवार देता था उसी के अनुरूप रानीवाड़ा विधानसभा क्षेत्र में बिश्नोई समाज का मान-सम्मान होने लगा और अगले चुनाव में बिश्नोई समाज के लोगों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया और बिश्नोई समाज के क्षेत्र से करीबन 10000 वोटों की लीड बनाकर नारायण सिंह जी को सौंपी और उस चुनाव में नारायण सिंह जी करीबन 33000 वोटों से जीते उन वोटों का नारायण सिंह जी ने रानीवाड़ा विधानसभा क्षेत्र में सबका साथ सबका विकास का महत्व देते हुए हर क्षेत्र में भरपूर विकास करवाया और हर एक दुख सुख में हर समय साथ रहे उसी के विपरीत रतन जी देवासी ने कांग्रेस पार्टी के कई वरिष्ठ सदस्यों ने 2018 विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवार के लिए अपने अपने हिसाब से टिकट की दावेदारी की। टिकट की दावेदारी करने वाले लोगों को रतन जी ने कूड़ा की कांग्रेस पार्टी की  मीटिंग में ऐसे से संबोधित किया कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं को भाजपा का एजेंट पैसों से बिकने वाले और भी कई शब्दों से उन कार्यकर्ताओं को संबोधित किया आज बड़ी विडंबना है की वही कार्यकर्ता जिनको भाजपा का दलाल बनाया था वहीं रतन जी के साथ मंच साझा कर रहे हैं मेरे युवा साथियों हमें अपने समाज का स्वरूप स्वाभिमान रखकर जो हमारे समाज को नारायण सिंह जी ने मान और मर्यादा दी है उसका एहसान चुकाने का वक्त आ गया है हमें ही अगले आने वाले 15 दिन रात मेहनत करके नारायण सिंह जी को भारी बहुमत से जी ताके राजस्थान की विधानसभा में हमारे रानीवाड़ा विधानसभा की आवाज उठाने के लिए एक बार और जयपुर भेजना है ना किसी के बहकाने में आकर अपना रास्ता छोड़ना है हमारा लक्ष्य एक ही है रानीवाड़ा का अगला विधायक नारायण सिंह जी देवल ही होंगे चाहे, कोई मत साझा करें या किसी की बातों में आए, उससे हमें कोई मतलब नहीं है। धन्यवाद! आपका युवा साथी!

Share This Post

Post Comment