बुजुर्गों के सम्मान से ही समाज आगे बढ़ता है

जयपुर, इंद्रकुमार : बुजुर्गों का सम्मान जिस समाज ने किया वह समाज विकास के क्रम में आगे बढ़ा है, यह बात श्री राजपूत सभा के दीपावली स्नेह मिलन एवं वृद्धजन सम्मान समारोह में मुख्य अतिथि कैप्टन पृथ्वी सिंह नाथावत ने कही। इसके अलावा अतिथि उम्मेद सिंह ने शिक्षा पर बल देने की बात कही। अध्यापक चंद्रभान सिंह ने राजपूत एकता व त्याग पर बल देते हुए अपनी बात रखी। इसी प्रकार टंवर सिंह ने कहा कि राजपूतो के वीर शहीदों का पूजन करना चाहिए। कोषाध्यक्ष उमाशंकर सिसोदिया ने पाश्चात्य संस्कृति को छोड़कर राजपूती सिद्धांत अपनाने पर बल दिया। एडवोकेट अजीत सिंह ने संस्कृति को बचाए रखने एवं उसके महत्व पर प्रकाश डालते हुए मंच को संबोधित किया। कार्यक्रम में सैकड़ों राजपूत बुजुर्ग महिलाएं उपस्थित रहे। जहां 500 बुजुर्गों का सम्मान किया गया। अधिवक्ता भंवर सिंह व अजय सिंह ने समाज के लिए हर संभव मदद देने की घोषणा की। बुजुर्ग सम्मान एवं दीपावली स्नेह मिलन के साथ उपस्थित सभी राजपूत समाज के सदस्यों ने एक दूसरे को बधाई एवं शुभकामनाएं दी। प्राचार्य सुमेर सिंह ने मंच से घोषणा की कि अगले वर्ष दशहरे पर्व पर राजपूत समाज चौमूं में भव्य शोभायात्रा का आयोजन किया जाएगा। जिसकी तैयारियों के लिए एक टीम भी गठित की गई है। व्यवस्थापक मान सिंह सिसोदिया ने सामूहिक विवाह सम्मेलन करवाने के लिए समाज के लोगों को जागरूक किया। यह जानकारी प्रेस प्रवक्ता विक्रम सिंह राठौड़ एवं दीपेंद्र सिंह शेखावत ने दी। कार्यक्रम में परमवीर सिंह, नितिन सिंह, रणवीर सिंह, गोपाल सिंह, देवी सिंह, सरपंच बिलपुर शायर सिंह, पूर्व पार्षद शिवराज सिंह मानपुरा, बिशन सिंह शेखावत, बुधराज सिंह, बहादुर सिंह, सुरेश सिंह, डॉक्टर अजीत सिंह, मोहन सिंह, भानु प्रताप सिंह, जितेंद्र सिंह, प्रेम सिंह, त्रिलोक सिंह नाथावत, करण सिंह नाथावत, हिम्मत सिंह, भरत सिंह नाथावत, रघुवेंद्र सिंह, डूंगर सिंह शेखावत सहित अनेक गणमान्य लोग मौजूद रहे।

Share This Post

Post Comment