ओवैसी का चंद्रबाबू नायडू पर निशाना, कहा- गुजरात दंगा हुआ…आज बने धर्मनिरपेक्षता के रक्षक

हैदराबाद, हार्दिक हरसौरा : एमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने विपक्षी गठबंधन के लिए पहल करने के लिए आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू की साख पर गुरूवार को सवाल उठाते हुए कहा कि वह हाल तक और 2002 के ‘‘गुजरात दंगों’’ के दौरान बीजेपी के एक समर्थक थे। उन्होंने कहा कि नायडू की तेलुगु देशम पार्टी (तेदेपा) उस समय नरेन्द्र मोदी सरकार का हिस्सा थी जब छात्र रोहित वेमुला, मोहम्मद अखलाक (लिंचिंग पीड़ित) की मौत हुई। ओवैसी ने ट्वीट किया,‘‘2002 में गुजरात दंगों के समय एनसीबीएन ने बीजेपी का समर्थन किया। जब अखलाक, रोहित, जुनैद, अलीमुद्दीन की हत्या की गई तो उस समय वह पीएमओ इंडिया कैबिनेट के एक हिस्सा थे। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में उनके पहले के कार्यकाल के दौरान कई सांप्रदायिक दंगे हुए। मुठभेड़ में अजीज और आजम की हत्या हुई और अब वह धर्म-निरपेक्षता के रक्षक है वाह’’ आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने से केंद्र के इंकार के बाद इस साल के शुरू में राजग से अलग होने वाले नायडू भगवा पार्टी के खिलाफ एकजुटता के साथ लड़ने के लिए गैर-बीजेपी दलों के नेताओं के साथ बातचीत कर रहे है। नायडू ने गुरूवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार से दिल्ली में मुलाकात की।

Share This Post

Post Comment