मुंबई : केरल में भी सीबीआई दफ्तरों पर कांग्रेस का प्रदर्शन

मुंबई, हार्दिक हरसौरा : कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार को सीबीआई कार्यालय के बाहर प्रदर्शन कर केंद्र सरकार के सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा से सभी अधिकार वापस लेकर उन्हें छुट्टी पर भेजने के फैसले का विरोध किया। उधर, केरल में भी कांग्रेस नेताओं ने स्थानीय सीबीआई दफ्तर पर इस मुद्दे को लेकर प्रदर्शन किया। मुंबई में प्रदर्शन का नेतृत्व करने वाले राज्य कांग्रेस के अध्यक्ष संजय निरुपम ने प्रधानमंत्री नरेंन्द्र मोदी पर “गैरकानूनी” और “असंवैधानिक तरीके” से वर्मा को हटाने का आरोप लगाया। सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा और विशेष निदेशक राकेश अस्थाना के बीच जारी टकराव के चलते मंगलवार रात सरकार ने दोनों को छुट्टी पर भेज दिया था। वर्मा और अस्थाना के अधिकार भी वापस ले लिए गए हैं। अंतरिम उपाय के रूप में, सीबीआई का प्रभार संयुक्त निदेशक एम नागेश्वर राव को दिया गया है। वर्मा के खिलाफ केंद्र की कार्रवाई की आलोचना करते हुए निरुपम ने कहा कि मोदी को जांच एजेंसी में “अभूतपूर्व” घटनाओं के लिए देश से माफी मांगनी चाहिए। निरुपम ने पत्रकारों से कहा, ‘‘वर्मा को गैरकानूनी और असंवैधानिक तरीके से हटाया गया है। क्योंकि वे (सरकार को) जानते थे कि वर्मा राफेल सौदे में सीबीआई जांच के आदेश देने वाले हैं।’’ पूर्व सांसद ने कहा, ‘‘इसलिए, अपने कृत्यों को छुपाने के लिए प्रधानमंत्री ने संविधान और कानून एवं व्यवस्था को नुकसान पहुंचाया।’’ निरुपम ने सरकार पर केंद्रीय एजेंसी की स्वायत्तता को खतरा पहुंचाने का आरोप भी लगाया। इस बीच, केरल में भी कांग्रेस नेताओं ने सीबीआई कार्यालय तक मार्च निकाला और मोदी पर केंद्रीय जांच एजेंसी का ‘‘राजनीतिकरण’’ करने का आरोप लगाया।

Share This Post

Post Comment