8 साल की देरी के बाद 4 नवंबर को जनता के लिए खोला जाएगा सिग्नेचर ब्रिज

99--

नई दिल्ली, संवाददाता : दिल्ली में लंबे समय से यमुना नदी पर बन रहा सिग्नेचर ब्रिज का काम अब लगभग पूरा हो गया है। इसके निर्माण में हुई 8 साल की देरी के बाद इसे अब आगामी 4 नवंबर को जनता के लिए खोले जाने की उम्मीद है। पहले 2010 में इसका उद्घाटन किया जाना था। अधिकारियों ने बताया कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल दिवाली से पहले 4 नवंबर को इसे दिल्ली की जनता को समर्पित करेंगे। दिल्ली टूरिज्म एंड ट्रांसपोर्ट डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन (डीटीटीडीसी) के महाप्रबंधक सी. अरविंद ने बताया कि इसके लिए अनापत्ति प्रमाण.पत्र हासिल करने के लिए हमने ट्रैफिक विभाग को भी पत्र लिखा है। अगर यह सही समय पर मिल गया तो हर हाल में यह 4 नवंबर को आम जनता के लिए खोल दिया जाएगा। 675 मीटर लंबे इस ब्रिज का निर्माण कार्य डीटीटीडीसी ने किया है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया इस ब्रिज का उद्घाटन करेंगे। अधिकारी ने बताया कि मनीष सिसोदिया जो टूरिज्म मंत्री भी हैं उन्होंने खास हिदायत दी है कि इस बार उद्घाटन की तिथि में और अधिक देर न की जाए। एक अधिकारी ने कहा कि सरकार 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले इसका उद्घाटन करना चाहती है। वजीराबाद पुल का जाम खत्म होगा: फिलहाल पूर्वी दिल्ली से उत्तरी दिल्ली जाने में लोगों को वजीराबाद पुल के भीषण जाम में फंसना पड़ता है। अभी पुल पर मरम्मत का काम चल रहा है। ऐसे में वाहनों को यमुना पर बने पंटून पुल से गुजारा जा रहा है। पीक ऑवर में इस पुल को पार करने में ही आधे घंटे का समय लग जाता है। सिग्नेचर ब्रिज बनने के बाद यहां लगने वाला जाम खत्म होगा। पूर्वी दिल्ली के साथ.साथ गाजियाबाद, मेरठ और देहरादून की तरफ से उत्तरी दिल्ली की तरफ जाने वाले यातायात को जाम में नहीं फंसना होगा। इससे प्रदूषण का स्तर भी घटेगा।

Share This Post

Post Comment