मुंबई में भारत बंद के दौरान विपक्ष का जमकर हंगामा

uu

मुंबई, नजीर मुलाणी : पालघर जिले में भी वसई, विरार नालासुपारा में भी मनसे ने तादादी के साथ रोड पर उतर कर बंद करवाया लोगो ने भी साथ दिया कोई तोड-फोड नही किया। शांति से बंद हुआ, पुलिस फौज ने भी आक्रमक होकर कोई भी अनहोनी होने नही दिया, अच्छी तरीके से अपनी ड्यूटी निभाई। पुलिस अधिकारियों को सलाम! पुणे सहित महाराष्ट्र के अन्य जिलों के अलावा देश में तेल कीमतों के दामों में वृद्धि के विरोध में भारत बंद रहा। वहीं महाराष्ट्र में कांग्रेस, एनसीपी और महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (एमएनएस) के कार्यकर्ता जमकर हंगामा करते दिखे। जगह.जगह ट्रेनें रोकी गई। दुकानें बंद कराई गई। बसों में तोड़फोड़ और टायर पंक्चर किए जाने की खबरें सामने आई। हालांकि, बाकी हिस्सों में मिला-जुला असर देखने को मिल रहा है। बता दें कि महाराष्ट्र में कांग्रेस-एनसीपी के साथ बंद को मनसे के अलावा अन्य पार्टियों का भी समर्थन रहा। इस बारे में मनसे पार्टी के अध्यक्ष राज ठाकरे ने रविवार को ही ऐलान किया था। अंधेरी से रेलवे ट्रैक पर हंगामा करके लोकल ट्रेन रोकने की कोशिश करने पर महाराष्ट्र कांग्रेस के वरिष्ठ नेता संजय निरूपम को स्थानीय पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। उन्हें लोखंडवाला में हाउस अरेस्ट कर लिया गया है। इस दौरान पहले उन्हें ट्रैक से खींचकर प्लैटफॉर्म पर लाया गया और फिर गिरफ्तार कर लिया गया। वहीं, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अशोक चव्हाण के नेतृत्व में लोकल ट्रेनें रोकी गईं। सांताक्रूज चेम्बूर लिंक रोड पर रोज की तरह ट्रैफिक रही। मुंबई के जनजीवन पर बंद का मामूली असर देखने को मिला। मुंबई में प्रतीक्षा नगर और नवी मुंबई में वाशी नाका बस डिपो के बाहर बसों पर पथराव किया गया। मुंबई से सटे भाईंदर में ओवरब्रिज के पास ट्रैफिक रोकने के लिए सड़क पर टायर जलाए गए। यहां टैक्सी और रिक्शा की संख्या रोज से कुछ कम देखी गई। जबरन बंद कराई गईं दुकानें, मनसे बोल देता हैं ढंग से, नही समझता है तो बताता है अपने मनसे स्टाईलस से ठाणे में दुकानें और व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रखे गए थे। ठाणे, कलवा मुंब्रा एनसीपी विधायक जितेंद्र आव्हाड के नेतृत्व में बैल गाड़ी से रैली निकाली गई, साथ ही दुकानों को बंद कराई गई, लेकिन मुंब्रा कौसा में बंद बेअसर दिखाई दिया, दुकानें, होटले, पान सिगरेट की दुकानें ज्यादातर खुली दिखाई दी वहीं एनसीपी नेता व कलवा मुंब्रा विधानसभा अध्यक्ष शमीम खान के नेतृत्व में एनसीपी, कांग्रेस और सपा के लोगों ने साईकिल पर रैली निकाल कर भाजपा सरकार और मंहगाई का विरोध करते दिखे। वहीं परेल के भारत माता जंक्शन नाका में एमएनएस के कार्यकर्ताओं ने शटर गिराकर जबरन दुकानें और एटीएम बंद करवाए। मुंबई, ठाणे और नवी मुंबई के ज्यादातर पेट्रोल पंप बंद रहे। हालांकि रविवार तक पेट्रोल पंप मालिकों का कहना था कि वह इस ‘राजनीतिक’ बंद में शामिल नहीं होंगे और 24 घंटे काम करेंगे। उन्होंने पुलिस सुरक्षा, सीसीटीवी कैमरे और बैरिकेडिंग की भी व्यवस्था कर ली थी लेकिन फिर भी पेट्रोल पंप मालिकों पर मनसे कार्यकर्ताओं का डर रहा होगा जिस वजह से उन्हें ऐन मौके पर अपना फैसला बदल दिया। मुंबई में सोमवार को पेट्रोल के दाम 88.12 प्रति लीटर जबकि डीजल के दामों का आंकड़ा 77.32 प्रति लीटर हो गया। ठाणे, मुंब्रा, नवी मुंबई, मुंबई आदि इलाकों के ऑटोरिक्शा और टैक्सी ड्राइवर भी बंद को समर्थन नहीं दे रहे थे। मनसे ने ही स्पोर्ट करके खूब अच्छे तरह से बंद का महाराष्ट्र बंद कर दिया।

 

 

 

 

 

 

Share This Post

Post Comment