सुप्रसिद्ध मौनिया बाबा मेले में लाखों की उमड़ी भीड़, ब्रजेश पाठक

ddd

सिवान, ब्रजेश पाठक : सिवान के महाराजगंज अनुमंडल में उत्तर बिहार के सुप्रसिद्ध मौनिया बाबा मेले की शुरूआत हो गई है। महराजगंज के बीजेपी सांसद ,विधायक सहित तमाम अधिकारियों ने दीप प्रज्जवलित कर मेला का उद्घाटन किया। इस प्रसिद्ध मेले में लाखों की संख्या में भीड़ उमड़ी है हाथी, घोड़े और ढोल नजारे से पूरा महराजगंज जगमग हो गया है जी श्री राम! के नारे से पूरा शहर गूंज उठा है। राज्य भर से लोग मौनिया बाबा के दर्शन के लिए मेले में पहुंच रहे है तो वही मौनिया बाबा मेले का इतिहास प्राचीनकाल के महान संत शिरोमणि मौनिया बाबा का समाधि स्थल से जुड़ा हुआ है। यहां प्रत्येक वर्ष एक माह तक चलने वाले मौनिया बाबा मेला भादो मास की कृष्ण चतुर्दशी की रात्रि जुलूस व अमावस्या के दिन महावीरी झंडा मेला लगता है। इस मेले की शुरुआत शहर के नागा बाबा मठ के महंत स्वामी महादेव दास एवं उनके गुरु शिष्य भाई कृपालनंद जी महाराज की प्रेरणा से सन 1923 में हुई थी। आज यह मेला उत्तर बिहार का प्रसिद्ध मेला बना हुआ है। महाराजगंज व दारौंदा प्रखंड के कुल 33 अखाड़े मेले में शामिल हुए है। बिहार प्रदेश के अलावा अन्य प्रदेशों के लोग भी श्रद्धा के साथ महावीरी झंडा मेला देखने आते हैं। आपको बता दें कि मौनिया बाबा मेले की परंपरा जुलूस के साथ वर्षों से लगता आ रहा है। यह मेला राष्ट्रीय एकता व  आपसी सौहार्द का प्रतीक माना जाता है। अपार श्रद्धा एवं अास्था के साथ यहां की जनता मेले को आयोजित करती है। लोगों की धारणा है  कि मौनिया बाबा  समाधि स्थल पर मांगी गयी मनौतियां अवश्य ही पूर्ण होती है। यहां सभी धर्म, जाति के लोग हार्दिक हर्षोल्लास के साथ मेले में भाग लेते हैं। मेले को काबू करने के लिए चार मेला नियंत्रण केंद्र बनाए गए हैं। मेले में मौजूद सीसीटीवी कैमरे के अलावा प्रशासन सभी प्रकार के गति गतिविधियों पर नजर रखी हुई है।

Share This Post

Post Comment