गन्ना भुगतान की मांग को लेकर किसानों का धरना

लुधियाना, राहुल गोरी : नवांशहर शुगर मिल ने बीते पिराई सीजन 2017-18  के दौरान गन्ना उत्पादकों का 35 करोड़ 7 लाख रूपया बकाया राशि जारी ना करने को लेकर शुगर मिल नवांशहर के गेट के आगे किसान ने दिया धरना। कई किसान यूनियन के नेताओ ने इस धरना में शामिल होकर सरकार के प्रति तीखा रोष जाहिर किया और जमकर नारे लगाए। पिछले कुछ महीनो पहले सरकार की तरफ से अदायगी के लिए 4.96 करोड़ रुपये की राशि जारी की गई है। किसानों ने कहा की चाहे केंद्र की सरकार हो या पंजाब सरकार हो किसानों की जल्द से जल्द गन्ने का बकाया पैसा दिया जाए। शुगर मिल नवांशहर के अलावा पंजाब में जितनी भी सरकारी शुगर मिल है 257 करोड़ रुपया बकाया है जबकि मोदी सरकार द्वारा जारी यह बयान छपा है कि 8500 करोड़ रूपया देश के शुगर मिल के किसान का बकाया देंगे। अगर सरकार ने जल्द ही यह पैसा जारी न किया। आने वाले दिनों में किसानो की और से तीखा संघर्ष किया जायेगा। वही शुगर मिल के चेयरमैन रंजीत सिंह झिंगर ने कहा की नवांशहर शुगर मिल में कई बोर्ड ऑफ़ डायरेक्टर और मेरा खुद का और मेरे परिवार का भी शुगर मिल में करीब 24 लाख रूपया बकाया। केंद्र सरकार और पंजाब सरकार को चाहिए की शुगर मिल के किसानो का 35 करोड़ जो बकाया है उसे जल्द से जल्द दिया जाये। जिससे किसान के ऊपर जो कर्ज है उसे उतार सके नहीं तो जिस तरह मालवा क्षेत्र में किसान आत्महत्या कर रही है आने वाले दिनों में दोआबा में किसान आत्महत्या करने को विवश होने लगेंगे।

Share This Post

Post Comment