श्रावणी मेले के लिए डीएसपी रैंक के 68 अफसरों की तैनाती, सीएम 27 जुलाई को करेंगे उद्घाटन

4

रांची, निखिल गोयल : श्रावणी मेले के दौरान बाबा बैजनाथ धाम देवघर और बासुकीनाथ धाम की सुरक्षा को लेकर भारी संख्या में पुलिस बलों की तैनाती की गई है। श्रावणी मेला शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हो इसके लिए विशेषतौर पर एंटी टेररिस्ट स्क्वायड (एटीएस) के साथ-साथ झारखंड जगुआर के चार एसॉल्ट ग्रुपों की तैनाती की गई है। श्रावणी मेले के लिए डीएसपी स्तर के 68 अफसरों की तैनाती की गई है। मेले के लिए देवघर और दुमका में कुल 29 ओपी और 14 अस्थायी यातायात ओपी गृह विभाग के द्वारा अधिसूचित किए गए हैं। इन सभी ओपी का प्रभार डीएसपी स्तर के अधिकारियों के जिम्मे होगा। डीएसपी स्तर के अधिकारियों के प्रभार वाले सभी ओपी क्लस्टर की तरह काम करेंगे। कुल मिलाकर श्रावणी मेला की तैयारी पुख्ता की गई है ताकि कोई परिंदा भी पर नहीं मार सके। पूरी व्यवस्था को देखने के लिए डीआईजी रैंक के अधिकारी के साथ 12 हजार जवान सुरक्षा में तैनात किए गए है। श्रावणी मेले को बिहार में राजकीय मेला घोषित किया गया है। इसकी शुरुआत 27 जुलाई को गुरु पूर्णिमा के दिन होनेवाली है। मेले को लेकर लोगों में उत्साह देखा जा रहा है। मुख्यमंत्री रघुवर दास 27 जुलाई को मेले का उद्घाटन करेंगे। इसे लेकर तैयारियां भी पूरी कर ली गई है। उद्घाटन में सत्तापक्ष के सभी विधायकों को आमंत्रित किया गया है साथ ही मेले के समापन के समय पड़ोसी राज्य के मुख्यमंत्री को आमंत्रण करने पर विचार अभी से चल रहा है। बता दें कि एक माह तक चलने वाले इस श्रावणी मेले में लाखों लोग झारखंड के देवघर स्थित बाबा वैद्यनाथ की पूजा करते हैं और जल चढाते हैं। बाबा के गर्भ गृह की सुरक्षा को लेकर आरएएफ के जवानों की मंदिर सहित मेला क्षेत्र में तैनाती होगी।

Share This Post

Post Comment