पुलिस पिटाई के बाद अस्पताल में भर्ती युवक की हुई

मुंबई, नजीर मुलाणी : सायन अस्पताल में बच्चे की मौत का गुस्सा पुलिस की गाड़ियां पर निकाला तोड़कर। यह मामला मुंबई के सायन अस्पताल का है। मिली जानकारी के मुताबिक मुंबई के सायन अस्पताल में 17 वर्षीय बच्चे की मौत के बाद गुस्साए लोगों की भीड़ ने यहां पुलिस की गाड़ियों में तोड़फोड़ की और पुलिसवालों तथा एक सरकारी एजेंसी के सुरक्षाकर्मियों पर हमला किया। पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि इस घटना में दो पुलिस कांस्टेबल और एक महिला समेत महाराष्ट्र राज्य सुरक्षा निगम (एमएसएससी) के तीन कर्मी इस हमले में घायल हो गए। उन्होंने कहा कि शहर के धारावी इलाके में रहने वाले सचिन जैसवार का एक दिन पहले मध्य मुंबई के सरकारी अस्पताल सायन में ईलाज के दौरान निधन हो गया था। अधिकारी ने कहा कि अस्पताल में भर्ती किए जाने से दो दिन पहले धारावी पुलिस ने एक आपराधिक मामले में उससे पूछताछ की थी और बाद में उसे छोड़ दिया था। घर पर बच्चा बीमार पड़ गया, और उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां ईलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। उन्होंने कहा कि पुलिस की तरफ से की गई कथित प्रताड़ना और डॉक्टरों द्बारा ईलाज में लापरवाही की वजह से सचिन की मौत होने के संदेह में करीब 100 लोगों की भीड़ परसों देर रात अस्पताल के बाहर इकट्ठा हो गई और पुलिस तथा सुरक्षाकर्मियों पर पथराव शुरू कर दिया। प्रदर्शनकारियों ने अस्पताल में घुसने की भी कोशिश की लेकिन उन्हें गेट पर ही रोक दिया गया। उन्होंने कहा कि इस दौरान पथराव में दो पुलिसकर्मी तथा एक महिला समेत एमएसएससी के तीन कर्मचारी घायल हो गए। पथराव में पुलिस की चार गाड़ियों को भी नुकसान पहुंचा है। पुलिस के उपर निलंबित करने की मां ने मांग की।

Share This Post

Post Comment