नशे के खिलाफ मुहिम से कैप्‍टन सरकार में हलचल

चंडीगढ़, जगमीत : पंजाब में सोशल मीडिया पर नशे चिट्टा के खिलाफ मुहिम शुरू होने से कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार में भी हलचल मच गई है। पंजाब कैबिनेट की आज इस मुद्दे पर आपात बैठक होगी। इसके साथ ही मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने नशे को लेकर सोशल मीडिया पर हो रही सरकार की बदनामी को देखते हुए स्पेशल टास्कफोर्स एसटीएफ से अब तक की कार्रवाई व स्थिति पर पूरे आंकड़े मंगवाए हैं। दूसरी ओर रविवार को नशे के खिलाफ “मरो या विरोध करो” मुहिम शुरू हो गई। यह मुहिम सोशल मीडिया पर 7 जुलाई तक चलेगी। कैप्टन सरकार ने स्पेशल टास्क फोर्स से मंगवाए नशे से संबंधित ताजा आंकड़े। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह दावा कर रहे हैं कि सरकार ने नशीले पदार्थों की सप्लाई चेन को तोड़ दिया है ओर नशा करने वालों को नशीले पदार्थ न मिलने के कारण वह अन्य नशीले पदार्थ ले रहे हैं। दूसरी ओर सीएम के इन दावों को लेकर कांग्रेस के नेता भी अपनी सरकार का बचाव करने में नाकाम रहे हैं। नशे के मुद्दे पर पूर्व कैबिनेट मंत्री राणा गुरजीत सिंह जैसे नेताओं ने सवाल उठाकर सरकार की साख को प्रभावित किया है।

Share This Post

Post Comment