बीजेपी ने पीडीपी से तोडा गठबंधन

राजकोट, हार्दिक हरसोना : जम्मू कश्मीर में लगेगा राज्यपाल शासन होगी जिहादियों की सफाई। भारतीय जनता पार्टी ने जम्मू कश्मीर सरकार से अपना समर्थन वापस ले लिया। जिहादी महबूबा मुफ़्ती से भारतीय जनता पार्टी ने समर्थन वापस लेकर गठबंधन तोड़ दिया। राम माधव ने गठबंधन तोड़े जाने का ऐलान किया और महबूबा मुफ़्ती को इसके लिये जिम्मेदार बताया अब जम्मू कश्मीर में राज्यपाल शासन लगेगा यानि सीधे केंद्र सरकार का शासन। सेना को खुले तौर पर छुट दे दी गयी है और अब बड़े पैमाने पर ऑपरेशन का भी आदेश दिया गया है। कश्मीर से जिहादियों और आतंकियों की बड़े पैमाने पर सफाई की जायेगी। बीजेपी के राम माधव ने कठुवा और जिहाद को लेकर महबूबा मुफ़्ती की आलोचना की और आज गठबंधन तोड़ दिया, कठुवा मामले में बीजेपी सीबीआई जांच चाहती थी पर महबूबा मुफ़्ती ने ऐसा नहीं होने दिया। इसके अलावा बीजेपी ने ये भी कहा की सीज फायर के कारण देश का नुक्सान हुआ बीजेपी ने इस भूल को स्वीकार किया। कुल मिलाकर बीजेपी ने आख़िरकार देश के राष्ट्रवादियों की बात को सुना और राष्ट्रवादी जो कई दिनों से पीडीपी से समर्थन वापस लेने की मांग कर रहे थे। बीजेपी ने राष्ट्रवादियों की मांग मानी। जम्मू कश्मीर में अब बड़े पैमाने पर बदलाव होंगे चूंकि कश्मीर में धारा 370 की वजह से सीधे राष्ट्रपति शासन नहीं लगाया जा सकता है। इसलिये 6 महीने तक राज्यपाल शासन रहेगा उसके बाद राष्ट्रपति शासन लग जायेगा परंतु सेना को खुली छुट दे दी गयी है।

Share This Post

Post Comment