छोटी बच्चियों के जिस्म का सौदा करते थे वो, कहते थे “तुम तो जवान हो चुकी हो”

बेल्लारी, जोगाराम : छोटी बच्चियों के जिस्म का सौदा करते थे वो कहते थे- तुम तो जवान हो चुकी हो उनके निशाने पर छोटी-छोटी बच्चियां रहती थीं। शायद वो मानते थे कि समझदार युवतियां इतनी आसानी से चंगुल में नहीं फंस सकती हैं यही कारण था कि उनके निशाने पर कम आयु की युवतियां रहती थीं जिन्हें वह लालच लेकर या अन्य किसी तरीकों से बातों में फंसा लेते थे। फंसाने के बाद वह उन बच्चियों का शोषण करते थे तथा कहते थे कि तुम जवान हो चुकी हो इसके बाद वह मासूमों को जिस्म के दलदल मैं धकेल देते थे। ऐसे ही मासूम बच्चियों की इज्जत को कोठों पर नीलाम करने वाले दो तस्करों परवेज तथा शोएब को मंगलवार (5 जून) को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया है। दोनों आरोपियों ने पुलिस को पूछताछ में बताया की ये दोनों यूपी के मुजफ्फरनगर के रहने वाले हैं इन्होंने एक 15 साल की लड़की को बहला फुसलाकर अपने साथ लाए थे और जीबी रोड लाने से पहले परवेज ने उसके साथ गाज़ियाबाद के लोनी में कैब में रेप किया फिर दोस्त शोएब के साथ मिलकार जीबी रोड बेचने लाए थे। फिलहाल पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ किडनैपिंग, महिला तस्करी और पोक्सो एक्ट और अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। पुलिस ने जिन दो तस्करों को हिरासत में लिया है वह पहले मासूम लड़कियों का दुष्कर्म करते थे उसके बाद उन्हें बदनाम गलियों में बिकने के लिए छोड़ देते थे। दअरसल 4 जून की शाम एक युवक जीबी रोड पर घूम रहा था वहीं पुलिस बूथ पर तैनात सिपाही सुंदर जो सिविल में था उसे युवक की गतिविधि संदिग्ध लगा तो पुलिस ने उससे पूछताछ की.युवक से सभी जानकारी ली जा सके। इसके लिए पुलिस अधिकारी ने भी खुद को कोठे का दलाल बताया। ये बात सुनकर युवक ने उसे कहा कि उसके पास एक लड़की है वो उसे बेचने आया है तभी सुंदर ने अपने कमला मार्किट थाने के एसएचओ सुनील ढाका को फोन किया और एसएचओ उससे कोठा मालिक बनकर बात करने लगा। युवक ने 2 लाख रुपए मांगे लेकिन एसएचओ ने 1 लाख 80 हजार रुपए में सौदा फिक्स कर दिया फिर उसके बाद लड़की को दिखाने की बात हुई। युवक ने लड़की को दिखाया तभी पुलिस ने ट्रैप लगाकर दोनों युवकों को गिरफ्तार कर लिया। सेंट्रल डिस्टिक के एडिशनल डीसीपी एन्टो एल्फांसो के मुताबिक दोनों की पहचान परवेज और शोएब के तौर पर हुई है। परवेज ही लड़की का सौदा करने जीबी रोड आया था जो पेशे से एक कंपनी में कैब ड्राइवर है और दूसरा शोएब जो इसका दोस्त है यूपीएससी की तैयारी कर रहा है।

Share This Post

Post Comment