गंगावा गांव में माँ बायोसा मन्दिर में दो साल मेें लगातार तीसरी बार चोरी

66

जालोर, भरत प्रजापत : आहोर क्षेत्र के गंगावा गांव, अज्ञात चोरों ने सोमवार रात को थाना क्षेत्र के गंगावा स्थित ऐतिहासिक व प्राचीन बायोसा माता मंदिर को पिछले दो साल मेें लगातार तीसरी बार अपना निशाना बनाया। चोरों ने मंदिर में चोरी की बड़ी वारदात को अंजाम दिया। चोर मंदिर के दानपात्र को तोड़कर सवा लाख की नकदी चुराकर ले गए। चोरी का मामला सामने आने के बाद बुधवार को चोरों को पकडऩे के लिए एसपी के निर्देश पर पुलिस की एक टीम गठित की गई। वहीं पुलिस व एमओबी टीम ने मौके पर पहुंचकर साक्ष्य जुटाए। इधर, मंदिर में दो साल में लगातार तीसरी बार चोरी की वारदात घटित होने तथा पुलिस की ओर से अभी तक पूर्व की चोरियों का राजफाश नहीं करने पर पुलिस प्रशासन की कार्यप्रणाली के प्रति रोष जताया। पुलिस के अनुसार सोमवार रात को अज्ञात चोर मंदिर के पीछे के दरवाजे से मंदिर में घुसे तथा स्टील के दानपात्र की चद्दर को कटर मशीन से तोड़कर करीब सवा लाख की नकदी चुराकर फरार हो गए। मंगलवार सुबह मंदिर के पुजारी व ग्रामीणों को चोरी की वारदात का पता चला। जिस पर पुलिस को सूचना दी गई वहीं मंदिर ट्रस्ट की ओर से पुलिस थाने में रिपोर्ट पेश की गई। बुधवार को एसपी के निर्देशानुसार चोरों को शीघ्र पकडऩे के लिए एसआई अभयसिंह के नेतृत्व में एक टीम गठित की गई। वहीं पुलिस व एमओबी टीम ने मौके पर पहुंचकर बारीकी से मुआयना किया। महीने भर से बंद पड़े सीसीटीवी कैमरे जानकारी के अनुसार मंदिर में सुरक्षा की दृष्टि से विभिन्न स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे लगे हुए है। लेकिन तकनीकी खराबी के कारण पिछले महीनेभर से कैमरे बंद पड़े है। जिसकी वजह से सोमवार रात को घटित चोरी की वारदात के फुटैज रिकॉर्ड नहीं हो पाए। पुलिस की नाकामी, ग्रामीणों में रोष मंदिर में इससे पूर्व दो बार सेंधमारी की वारदात घटित हुई है। चोरों द्वारा गत 23 जुलाई 2016 व 12 नवम्बर 2016 को मंदिर में चोरी की वारदात को अंजाम दिया गया था। जिसमें करीब आठ-नौ लाख रुपए चोरी हुए थे। इन चोरियों से संबंधित सीसीटीवी में रिकॉर्ड फुटैज भी पुलिस को उपलब्ध करवाए गए थे। लेकिन अभी तक पुलिस इन चोरियों का राजफाश कर चोरों को नहीं पकड़ पाई है। जिसकी वजह से ग्रामीणों में पुलिस की कार्यप्रणाली को लेकर रोष व्याप्त है। चोरों ने मंदिर को लगातार तीसरी बार निशाना बनाया है। जांच जारी  चोरों को पकडऩे के लिए पुलिस अधीक्षक के निर्देशानुसार पुलिस की एक टीम गठित की गई है। पुलिस व एमओबी टीम ने मौका मुआयना कर साक्ष्य जुटाए है। संदिग्धों से पूछताछ की जा रही है।

Share This Post

Post Comment