समाज सेवी संस्था प्रभ आसरा में आठ लावारिसों को मिली शरण 

000मोहाली, गुरसेवक गुरी : शहर में लावारिस लोगों की सेवा संभाल कर रही प्रभ आसरा संस्था में आठ और नए लावारिस लोगों को शरण मिली है। संस्था के मुख्य प्रबंधक भाई शमशेर सिंह पडियाला और बीबी राजिंदर कौर पडियाला ने बताया कि सुनीता (25) महिला जिसने लगभग 2 महीने पहले लुधियाना में सडक़ पर एक बच्चे को जन्म दिया था। इस उपरांत वहां के समाजसेवी लोगों ने उसको अस्पताल पहुंचाया था। अस्पताल पहुंचने पर वहां उसके बच्चे की मौत हो गई। इसके परिवार के बारे में किसी को कोई जानकारी ना होने के कारण गुरु अमरदास अपाहिज आश्रम के प्रबंधकों की ओर से इस महिला को प्रभ आसरा संस्था में दाखिल करवाया गया। इसी तरह राशिदा (30) साल महिला जो की  रोपड़ के गांव घनौला में लावारिस हालत में बैठी थी। इसको अपने घर का पता नहीं पता था। वहां के समाजसेवी लोगों ने पुलिस की सहायता से इसे संस्था में दाखिल करवाया। उमादेवी (50) जोकि श्री आनंदपुर साहिब में गांव संधोआ में लावारिस हालत में घूम रही थी को पुलिस द्वारा संस्था में दाखिल करवाया गया। मंजू (35) साल महिला  सेक्टर 66 मोहाली में एक मंदिर के सामने पिछले 1 हफ्ते से लावारिस हालत में बैठी थी को समाजसेवी लोगों ने संस्था में दाखिल करवाया। इसी तरह चीना (60) साल बुजुर्ग और 18 साल लडक़ा जो अपना नाम पता बताने में असमर्थ था पिछले कई दिनों से अंबाला में लावारिस हालत में घूम रहे थे समाजसेवी लोगों ने इन्हें संस्था में दाखिल करवाया। उपिंदर (18) साल व्यक्ति को संस्था के सेवादारों की ओर से संस्था में दाखिल करवाया गया जो कि संस्था के पास कूड़ेदान से कुछ उठा कर खा रहे थे। इसी तरह (55) साल व्यक्ति जो कि अपना नाम और पता बताने में असमर्थ था। पिछले 6 महीने से सब्जी मंडी कुराली में लावारिस हालत में बैठा था। वहां के समाजसेवी लोगों ने उसे संस्था में दाखिल करवाया। इन संबंधी बातचीत करते हुए संस्था के मुख्य प्रवन्धक भाई शमशेर सिंह ने बताया कि इन्हें संस्था में जगह देकर इनका इलाज सेवा संभाल शुरू कर दी गयी है। इन्होंने लोगों से अपील की कि इन लोगों के बारे में अगर किसी को कोई जानकारी हो तो वह संस्था से संपर्क करें।

Share This Post

Post Comment