कुराली की अनाज मंडी में कछुआ चल से चल रही लिफ्टिंग, आढ़तियों में रोष

 

rty

मोहाली, गुरसेवक गुरी : किसानो में अनाज भीगने का डर, मौसम कर रहा परेशान शहर की अनाज मंडी में गेहूं की आमद के जोर पकडऩे के साथ ही सरकार द्वारा जारी कछुआ चाल से लिफ्टिंग से आढ़तियों के चेहरे मुरझा रहे है। एक तरफ तो बिगडते मौसम की मार से आढ़ती पहले से परेशान है। ऊपर से तेज हवाएं और उडती धूल मिटटी के अलावा बरसात का डर भी उनकी नींद को उडा रहा है कच्ची अनाज मंडी होने के कारण आढ़तियों को दुगनी तिगनी मेहनत गेहूं को साफ करने के लिए करनी पड रही है। अब तक पहुंची फसल की लिफ्टिंग की कछुआ रफ्तार और पनसप द्वारा खरीद बंद कर दिए जाने के कारण किसानों और आढ़ती परेशान है। अनाज मंडी में गेहूं की खरीद शुरू हुए चाहे अभी एक सप्ताह भी नहीं हुआ है। लेकिन, खरीद के ठोस प्रबंधों की कमी साफ दिखाई दे रही है। पिछले दिनों खराब हुए मौसम को लेकर किसानों ने तेजी के साथ अपनी फसलों को मंडी में पहुंचाया है। फसल की आमद में अचानक आई तेजी के कारण फसल बेचने तथा खरीदने में परेशानी सामने आनी शुरू हो गई है। इस संबंधी किसानों द्वारा दिखाई जा रही तेजी के कारण अनाज मंडी में किए प्रबंध नाकाफी लग रहे हैं। कुराली की अनाज मंडी में आज तक पहुंची गेहूं की 15464 मीट्रिक टन गेहूं की फसल खरीदी जा चुकी है। इसमें से 60900 टन गेहूं की फसल की लिफ्टिंग ही आज तक हो सकी है। जिस कारण गेहूं की भरी बोरियों के अंबार लगे हुए हैं। जबकि, इस कारण नई आने वाली गेहूं की फसल की ढेरी रखने में किसानों को परेशानी झेलनी पड़ रही है। कुलवीर सिंह मंडी इंस्पेक्टर द्वारा प्राप्त आकड़ों के अनुसार मंडी में आज तक पनग्रेन द्वारा 2087, मार्कफैड द्वारा 3417,पनसप द्वारा 5952 ,मार्क फेड 3417,पंजाब एग्रो 425 टन खरीद की जा चुकी है। यही नहीं, कुराली की अनाज मंडी में गेहूं की फसल की खरीद के लिए नियुक्त की खरीद एजेंसियों में से एफसीआई द्वारा खरीद शुरू ही नहीं की गई है। जबकि, कुछ दिनों से पनसप द्वारा भी खरीद बंद की हुई है। इस कारण किसानों और आढ़तियों को भारी परेशानी झेलनी पड़ रही है। आकड़ों के अनुसार पनसप एजेंसी को सरकार द्वारा 12790 मीट्रिक टन का कोटा निश्चित किया गया है। जिसमें से लगभग 4900 मीट्रिक टन की खरीद पनसप द्वारा खरीद के बाद खरीद बंद कर दी गई है। आढतियों द्वारा खरीदी जा रही फसल के बिल पनसप द्वारा ना लिए जाने के कारण किसानों को आढ़तियों द्वारा जे फार्म जारी नहीं किए जा रहे हैं। इस कारण किसानों में भारी रोष पाया जा रहा है। संपर्क करने पर पनसप के जिला मैनेजर अनंत शर्मा ने कहा कि कुराली मंडी में उनकी एजेंसी द्वारा खरीदी गेहूं की फसल की लिफ्टिंग नहीं हो सकी है। जिस कारण ही आज और फसल नहीं खरीदी गई है। पहले खरीदी गई फसल की लिफ्टिंग के बाद ही और फसल की खरीद की जाएगी। एफसीआई के खरीद अधिकारी सूर्यकांत शर्मा ने खरीद ना करने के संबंध में कहा कि उनको कोई आढ़ती अलॉट नहीं किया गया है। जिस कारण उनकी खरीद शुरू नहीं हो सकी है। इसलिए, जगह-जगह बोरियां पडी हैं। जब इस सवंधी डीएफएससी शिफाली से बात की तो उन्होंने कहा कि कुराली की अनाज मंडी में लिफ्टिंग में तेजी लाने के लिए बनती कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने एफसीआई द्वारा खरीद ना किए जाने और पनसप की खरीद बंद होने संबंधी बनती कार्रवाई अमल में लाने का भरोसा दिया। इस  संबंध में जानकारी देते हुए शहर की आढ़ती एसोसिएशन के प्रधान राणा हरमेश कुमार, अश्वनी बंसल, बिटू खुल्लर और मनोज भसीन आदि ने बताया कि पनसप द्वारा कुछ दिनों से खरीद ना किए जाने के कारण परेशानी बहुत ज्यादा बढ गई है। उन्होंने कहा कि इस संबंध में वह संबंधित खरीद अधिकारियों को भी अपील कर चुके हैं। लेकिन, अधिकारियों द्वारा मंडी में पैदा हुई इस समस्या को लेकर कोई गंभीरता नहीं दिखाई जा रही है। जिस कारण किसानों और आढ़तियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। लिफ्टिंग को लेकर आज आढ़तियों एसोसिएशन ने जिला अफसर मैडम गुरप्रीत कौर सपरा को मांग पत्र भेजा है।

Share This Post

Post Comment