महिलाओं पर होने वाले अत्याचार के खिलाफ अर्जी लिखित निवेदन

kkमुंबई, नजीर मुलाणी : तहसीलदार कार्यालय वसई में महिलाओं पर होने वाले अत्याचार के खिलाफ अर्जी लिखित निवेदन दिया। विरार, रुबीना, मुल्ला इन्होंने लडकियों कि और महिलाओं की सुरक्षा व्यवस्था कितनी जरुरी हैं वह दिखाने कि कोशिश की हैं। जरूरी भी है तो कि सरकार को यह एहसास हो जाये कि हिदोसता कि नारी जाग गई हैं। कोई भी जात हो, कोई भी धर्म हो, जब बेटी की चीख निकलती है तब माॅ के खून के आंसू निकलते है। कहा गया बेटी बचाव नारा आज इन सब वारदाताओं से बेटी को जन्म देने पर हर माॅ को डर लगने लगा है। इसका जिम्मेदार कौन है? ये सवाल हर वो महिला पूछना चाहती है लेकिन सामने कोई नही है, लेकिन ये चिखे दबा नही सकती। एक माॅ के दिल मे उठे सवालों को यही सरकार के सामने हकीकत बया करने की कोशिश की है। इन महिलाओं मे शामिल है वसुधा पानवकर, रूबिना मुल्ला, तस्लिम सय्यद, लक्ष्मी मॅडम, अनिसा सय्यद, अब तो सरकार को सोचना ही पडेगा। लड़कियों को ओर महिलाओं को कैसे सुरक्षित करे। .

Share This Post

Post Comment