लड़की-पढ़ाओ, लड़की-बचाओ उसके बाद शादी के वक्त देहज की मांग करते है, तब गरीब मां बाप होते हैं परेशान

uuuuuuuuमुंबई, नजीर मुलाणी : वसई, लड़की जिस घर में होती है, मां-बाप खुश होते है, घर में लक्ष्मी आई है, जिस घर में बेटी पैदा होती है उसके मां बाप गरीब होते हैं, तो बेटी को पाल-पोस कर बड़ा करके शादी तक ऐसी ही बेटी को बड़ा करके अच्छी परवरिश करके शादी के वक्त गरीब मॉ-बाप होते हुए उनकी शादी में दहेज देना पड़ता है। तब गरीब मां बाप दहेज देने के वजह से परेशान लड़की-पढ़ाओ लड़की-बचाओ का यह नारा मां बाप करते हैं। लेकिन शादी के वक्त लड़की वालो से देहज की मांग रखते हैं, जो नामुमकिन होता है, तब यह सर्वे यूपी, बिहार मे अब तक चलते आ रहा है। इसको खत्म करने के लिए सख्त जरूरत है। इस को कानून से दहेज मांगने वाले को कठोर कानून बनाना चाहिए। तब यह सिलसिला खत्म होगा। मै यूपी का  रहने वाला-मिथिलेश दुबे ग्रा.जि.बलिया मै महाराष्ट्र गुजरात, में संजान में सिक्युरीटी गार्ड में नोकरी करता हूं। वही तनखा में मेरा और मेरे परिवार का गुजारा करता हूं। बडी मेहनत से गुजारा होता है मैं  लड़की को दहेज देने मे देश को पूरे इंडिया में खत्म करने के लिए विनती करता हूं। इस मामले को कानून की मुताबिक  विनती करता हूं। भारत सरकार को यह कानून लागू करना चाहिए। गरीबी के हाल से दहेज नही दे पाते लडकी की खुशी को क्या करे इसलिए कानून बनाना चाहिए, कोई न परेशान हो, अपनी बेटी शादी कर कर अपना घर बसाए। मां बाप का सपना होता है लेकिन गरीब होने से अपनी बेटी की खुशियां दे नहीं पाते। क्योंकि दहेज मांगने से वहां पर खुशियां मां बाप की खत्म हो  जाती है। इस में बेहद दहेज लेने वाले ऊपर कानून सख्त बनाए रखे। यह देश के वजह से मां-बाप सुसाइड का रास्ता ना चुने  और अपनी बेटी को खुशी के माहौल में देखने की तमन्ना रखे।

Share This Post

Post Comment