रैगिंग के मामले में 15 इंजीनियरिंग स्टूडेंट्स हॉस्टल से निष्कासित

बेल्लारी, जोगाराम चौधरी : इंदौर के देवी अहिल्या विश्वविद्यालय के एक प्रमुख इंजीनियरिंग संस्थान में कथित रैगिंग के मामले में 15 विद्यार्थियों को छात्रावास से निष्कासित कर दिया गया। इंदौर के देवी अहिल्या विश्वविद्यालय के एक प्रमुख इंजीनियरिंग संस्थान में कथित रैगिंग के मामले में 15 विद्यार्थियों को छात्रावास से निष्कासित कर दिया गया। इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नालॉजी (आईईटी) के निदेशक संजीव टोकेकर ने बताया कि एक छात्र द्वारा विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) की हेल्पलाइन पर दर्ज करायी गयी, शिकायत पर जांच के बाद 15 विद्यार्थियों को छात्रावास से निष्कासित कर दिया गया है। इसके साथ ही, संस्थान की सांस्कृतिक गतिविधियों में उनकी भागीदारी पर रोक लगा दी गयी है। टोकेकर ने बताया कि प्रथम वर्ष के सात विद्यार्थी और द्वितीय वर्ष के आठ छात्रों पर यह अनुशासनात्मक कार्रवाई की गयी है। उन्होंने बताया, “हमें जांच में पता चला कि प्रथम वर्ष के सात विद्यार्थी कुछ जूनियर छात्रों से कथित रैगिंग में द्वितीय वर्ष के आठ विद्यार्थियों की मदद कर रहे थे। “टोकेकर ने बताया कि रैगिंग की शिकायत पर जांच के दौरान आईईटी के 86 जूनियर छात्रों के बयान दर्ज किये गये.

Share This Post

Post Comment