न्दूकाल बनते कान्वेंट स्कूल . एक और मासूम की ली गयी बलि वो थी मात्र 15 साल की

बेल्लारी, जोगाराम चौधरी : आधुनिकता की दौड़ में जिस मैकाले की शिक्षा पद्धति का अंधा अनुसरण किया गया अब उसके उल्टे परिणाम देखने को मिलने लगे हैं । अफ़सोस की बात ये है कि बुजुर्गों की अदूरदर्शिता का घातक अंजाम मासूम बच्चो को भोगना पड़ रहा है । कुछ को जहाँ भारी मानसिक व्यथा झेल कर तो कुछ को अपने प्राण गंवा कर पहले रेयान स्कूल में प्रद्युम्न के कत्ल ने दुनिया को झकझोर दिया और अब नॉएडा की मासूम जिसे खुद को मौत को गले लगाना पड़ा एल्कान पब्लिक स्कूल में हुए अन्याय के चलते । इस मामले में भले ही कड़ी कार्यवाही हो रही लेकिन फिलहाल एक मासूम विदा हो गयी संसार से ।

ज्ञात हो कि एक बार फिर कान्वेंट स्कूलों में फैले जहर का असर देखने को तब मिला नोएडा के मयूर विहार स्थित स्कूल में 15 वर्षीय छात्रा ने आत्महत्या कर ली । छात्रा के परिवार का आरोप है कि स्कूल के टीचर ने उसके साथ शोषण किया जिससे तंग आकर छात्रा ने आत्महत्या की है। छात्रा 9वीं कक्षा की छात्र थी। छात्रा के पिता ने बताया कि उनकी बेटी ने उन्हें बताया था कि एसएसटी के टीचर ने उनकी बेटी को गलत तरीके से छुआ था, लेकिन मैंने उससे कहा था कि ऐसा नहीं हो सकता है क्योंकि मैं खुद एक टीचर हूं, उसे कोई गलतफहमी हुई होगी। मेरी बेटी ने कहा था कि वह इस बात को लेकर परेशान है कि कहीं वह उसे फेल नहीं कर दें। आखिरकार एसएसटी में मेरी बेटी फेल हो गई और स्कूल ने मेरी बेटी को मार डाला।

इसी मामले में नोएडा पुलिस ने कॉस्टेबल क्लर्क निरपेंद्र को सस्पेंड कर दिया गया है। नोएडा सेक्टर 24 के एसएचओ अखिलेश त्रिपाठी ने बताया कि कॉस्टेबल ने 15 वर्षीय छात्रा के आत्महत्या के मामले में गलत आईपीसी की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया था, जिसके बाद उसे सस्पेंड कर दिया गया है। अभी तक मिल रही जानकारी के अनुसार पुलिस ने देर रात 11 बजे स्कूल के टीचर राजीव सहगल और नीरज आनंद के अलावा प्रिंसिपल के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। इन सभी लोगों पर छात्रा को आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज किया गया है। इस मामले में आईपीसी 306, 506 और पॉस्को एक्ट के तहत भी मामला दर्ज किया गया है।

Share This Post

Post Comment