पांच हजार का इनामियाँ हत्यारा चढ़ा पुलिस टीम के हत्थे फरार होने की जुगत में था इनानिया बदमाश एक ड्राइवर के कत्ल का अपराधी था बांछित

रिपोर्टर आशीष रावत ललितपुर -ललितपुर । कुछ दिनों पहले जनपद के थाना जखोरा क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम नदनवारा में ड्राइवर हत्याकांड में वांछित अपराधी अक्षय उर्फ अक्की व मास्टर माइंड जीशान फरार बताया जा रहा था जिसकी तलाश थाना जखौरा पुलिस के साथ स्वाट टीम भी कर रही थी । तभी पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि ट्रेविल एजेंसी के ड्राइवर हत्या कांड में वांछित अपराधी शहर में घूमता देखा गया है वह ललितपुर बस स्टैंड से पैदल चलकर जेल के पीछे से जेल चौराहे की तरफ जा रहा है । मुखबिर की सूचना पर थाना जखौरा प्रभारी आनंद कुमार भदोरिया तथा स्वाट टीम के चंद्रशेखर मोहम्मद शफीक अवधेश कुमार आदि ने घेराबंदी की पुलिस की घेराबंदी होते देख उसने भागने की कोशिश की मगर पुलिस ने बल प्रयोग कर उसे धर दबोचा बताया गया है कि उक्त आरोपी पर पुलिस ने 5000 का इनाम भी घोषित किया था । आपको बताते चलें कि सूचना के आधार पर पुलिस ने हत्या आरोपी भूपेंद्र पुत्र कामता दीपक कुशवाहा पुत्र भगवती निवासी राठ तथा सत्येंद्र पुत्र संतोष निवासी ग्राम परक्षा व अभिनव पुत्र ब्रजेश निवासी खेड़ा को दबिश देकर गिरफ्तार कर इस हत्याकांड के तीन आरोपी पहले ही जेल जा चुके हैं तथा चौथे आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया एवं पांचवा आरोपी मास्टरमाइंड जीशान ने न्यायालय में सरेंडर कर दिया । ड्राईवर हत्याकांड के पांचों आरोपी पुलिस द्वारा जेल भेजे जा चुके हैं ।
यह था पूरा मामला :- थाना जखौरा के अंतर्गत हाईवे स्थित ग्राम नदनवारा के बाहर नदनवारा हाईवे लिंक रोड पर एक नाले के पुल के नीचे एक अज्ञात व्यक्ति का शव पुलिस ने बरामद किया था । जिसके आधार पर उसकी शिनाख्त भगवान दास कुशवाहा पुत्र मातादीन के रूप में हुई जो एक ट्रेवल एजेंसी की गाड़ी चलाता था । जिसको कुछ लोग किराए पर लेकर आए थे अनुमान लगाया गया कि हो सकता है वही व्यक्ति जो किराए पर गाड़ी लेकर आए थे उन्हीं ने इसकी हत्या कर शव को छुपाने के उद्देश्य फेंक दिया हो । तत्काल बायर लैस पर सूचना प्रसारित की गई इसी दौरान जनपद हमीरपुर के थाना राठ के स्थानीय कस्बे से एक आर्टिका गाड़ी लावारिस हालत में पुलिस ने बरामद की तलाशी के दौरान पाया गया कि गाड़ी के अंदर खून के धब्बे लगे हुए हैं । दोनों जनपदों की पुलिस ने जब गाड़ी और ड्राइवर की जेब से बरामद ट्रेवल एजेंसी के कार्ड पाये गये नंबरों से संपर्क किया तो पता चला कि जीशान और उसके कुछ साथी गाड़ी को झांसी से किराए पर लेकर ललितपुर की तरफ गए थे । झांसी से ललितपुर के बीच में बबीना टोल बैरियर पर पुलिस ने जब पूछताछ की तो पता चला कि वह गाड़ी बबीना टोल बैरियर से ललितपुर की तरफ निकली थी मगर ललितपुर टोल बैरियर के पास पुलिस को गाड़ी की कोई सबूत नहीं मिले । इससे अनुमान लगाया गया की गाड़ी के ड्राइवर की हत्या कर उसके शव को नाली में फेंक दिया गया एवं गाड़ी लेकर हत्यारे फरार हो गए इसी हत्या में जीशान और अक्षय वांछित चल रहे थे जिन पर पुलिस ने पांच 5000 का इनाम घोषित किया था अब दोनों ही अपराधी जेल जा चुके हैं ।

 

 

Share This Post

Post Comment