मोदी सरकार ने ईपीएफ और पीपीएफ के सूद घटाएं

रिपोर्टर-राजेश कुमार दास कोलकत्ता- बैंक और स्मॉल सेविंग्स में सरकार ने ब्याज घटाया है और अभी अब ईपीएफ व पीपीएफ के ब्याज दर घटा कर सरकार मध्यम वर्गीय और निचले तबके के परिवारों को समस्या में डाल रहीं है। केंद्र सरकार के इस सिंद्धात से देश के 5 करोड़ रोजगारो को आर्थिक नुकसान होगा। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी इसके लिए गुस्सा दर्शाया। ब्याज दरों में ईपीएफ 8.65 प्रतिशत से घटाकर 8.55 प्रतिशत कर दिया। बुद्धवार एम्पलॉयर प्रोविडेट फंड ओरग्नाइजेशन ने 2017-18 में ईपीएफ का ब्याज 0.10 प्रतिशत घटाकर 8.55 प्रतिशत कर दिया। इससे पहले 2016-17 में ब्याजदर 8.80 प्रतिशत से घटाकर 8.65 प्रतिशत किया गया था
देश भर में अभी इस के लिए क्या प्रतिक्रिया होती है और सरकार उसकें लिए क्या कदम उठाती है। इसका इंतजार सभी को है।

Share This Post

Post Comment