शरद ने मिलाया कांग्रेस से हाथ, आने वाले सभी चुनाव में दोनों मिलकर देंगे बीजेपी को चुनौती

रिपोर्टर- दानाराम पटेल चंंगनाशेरी कोट्रायल – केरला- मुंबई. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की देश की समस्याओं को समझने की रणनीति की तारीफ करते हुए कांग्रेस के अच्छे दिन आने की बात कहने वाले शरद पवार ने महाराष्ट्र में कांग्रेस से हाथ मिला लिया है. बीते कुछ दिनों से दोनों पार्टियों के बीच चल रही मुलाकात और बात के बाद आखिर दोनों ने साथ मिलकर चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया.
महाराष्ट्र में अब बीजेपी और उसके गठबंधन की राह आसान नहीं होगी. कांग्रेस को बीजेपी को चुनौती देने में सक्षम करार देने वाले शरद पवार की एनसीपी ने कांग्रेेस से हाथ मिला लिया है.
अब दोनों मिलकर राज्य में होने वाले सभी चुनावों में बीजेपी को टक्कर देंगे. महाराष्ट्र विधानसभा के संभावित चुनाव में बीजेपी और एनडीए सरकार को हराने के लिए दोनों एक मंच पर होंगे.
पिछले कुछ दिनों से कांग्रेस और एनसीपी के नेताओं के बीच सियासी तालमेल की खिचड़ी पक रही थी. राज्य विधानसभा में विपक्ष के नेता राधाकृष्ण विखे पाटिल के घर पर महाराष्ट्र कांग्रेस प्रमुख अशोक चव्हाण और एनसीपी के प्रदेश प्रमुख सुशील तटकरे के बीच गुरूवार को भी बैठक हुई. इस बैठक के बाद एनसीपी और कांग्रेस के बीच महाराष्ट्र में गठबंधन का एलान किया गया है.
कांगेस के प्रदेश अध्यक्ष अशोक चव्हाण ने कहा कि प्रदेश की बीजेपी-शिवसेना सरकार को हराने के लिए हमने आने वाले सभी चुनाव मिलकर लड़ने का फैसला किया है. हालांकि दोनों पार्टियों के बीच सीटों के बंटवारे को लेकर अभी कोई बातचीत नहीं हुई है. लेकिन, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष व एनसीपी नेताओं का कहना है कि ये सब अगली मुलाकात और बातचीत में तय किया जाएगा.
कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने इस गठबंधन की घोषणा करने में उतावलापन दिखाया तो एनसीपी के मन में अभी भी कुछ संशय नजर आ रहा है. एनसीपी नेता सुशील तटकरे ने आधिकारिक गठबंधन का एलान करने से परहेज करते हुए कहा कि दोनों दल गठबंधन करने की स्थिति में हैं. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि फिलहाल कांग्रेस और एनसीपी की निगाह गोंदिया उपचुनाव और पालघर सीट पर है.
बता दें कि बुधवार को नेशनल कांग्रेस पार्टी यानि एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार ने महाराष्ट्र में आयोजित एक कार्यक्रम में कांग्रेस के अच्छे दिन आने की बात कही थी. उन्होंने यह भी कहा था कि देश में कांग्रेस ही एक ऐसी पार्टी है जो बीजेपी को टक्कर दे सकती है. पूर्व केंद्रीय मंत्री शरद पवार ने यह भी कहा था कि राहुल गांधी में तेजी से बदलाव आया है और वे देश के मसलों को समझने के लिए कोने-कोने में जाने को तैयार रहते हैं.

rahu gandhi

Share This Post

Post Comment