फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस बनाने वाले गिरोह के पर्दाफ़ाश, 4 गिराफ्तार

रिपोर्टर –नजीर मुलाणी -मुंबई  महाराष्ट्र भिवंडी:  अपराध अंवेषण शाखा की पुलिस ने फर्जी दस्तावेज के आधार पर ड्राइविंग लाइसेंस एवं ऑटो रिक्शा परमिट बनाने वाले एक गिरोह के चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने उनके पास से पुलिस का 45 फर्जी चरित्र प्रमाण पत्र, 20 एलसी, 34 डोमोसाइल, 44 वीमा प्रमाण पत्र, आरटीओ, डॉ. मिश्रा एवं बजाज एलायंज इंश्योरेश कंपनी का फर्जी सिक्का, 49 वाहन चालकों के ड्राइविंग लाइसेंस, तीन लेपटॉप, तीन कंप्युटर एवं पांच मोबाइल सहित कुल एक लाख 67 हजार 500 रुपये मूल्य का सामान बरामद किया है।भिवंडी अपराध अंवेषण शाखा की पुलिस को 18 जनवरी को मुखविर से सूचना मिली थी कि धामनकर नाका इलाके में ड्राइविंग लाइसेंस बनाने वाला एक एजेंट नागरिकों से ज्यादा पैसा लेकर पुलिस का फर्जी प्रमाण पत्र सहित अन्य फर्जी दस्तावेज बनाकर बड़े पैमाने पर ड्राइविंग लाइसेंस एवं ऑटो रिक्शा की परमिट बनवा रहा है। मुखबिर से सूचना मिलते ही वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक शीतल राउत के मार्गदर्शन में पुलिस निरीक्षक सुरेश चोपड़े, पुलिस उपनिरीक्षक संतोष चौधरी, रविंद्र पाटील एवं लक्ष्मण जोरी की टीम ने धामनकर नाका स्थित केजीएन संजरी ऑटो कंसलतंत की ऑफीस में छापा मारकर नफीस सगीर अहमद फारुकी (38) गैबीनगर एवं नाजिल नवाज अहमद मोमिन (28) हापसन आली को गिरफ्तार कर लिया।
पुलिस की टीम ने इनके निशादेही पर मो. इस्माइल मो. रजा अंसारी (34) चौथा निजामपुरा एवं संगनेश्वर स्वामी (42) शेलार गांव को गिरफ्तार करके इनके पास से पुलिस का 45 फर्जी चरित्र प्रमाण पत्र, 20 एलसी, 34 डोमोसाइल, 44 वीमा प्रमाण पत्र, आरटीओ, डॉ. मिश्रा एवं बजाज एलायंज इंश्योरेश कंपनी का फर्जी सिक्का, 49 वाहन चालकों के ड्राइविंग लाइसेंस,तीन लेपटॉप, तीन कंप्युटर एवं पांच मोबाइल सहित कुल एक लाख 67 हजार 500 रुपये मूल्य का सामान बरामद किया। पुलिस उपनिरीक्षक चारो लोगों के विरुद्ध भोइवाड़ा पुलिस स्टेशन में भादंसं की धारा-465, 466, 468, 472, 474 एवं 34 के तहत मामला दर्ज कराकर उन्हें गिरफ्तार कर लिया है।

Share This Post

Post Comment