श्रद्धांजलि, स्वतंत्रता सेनानी को शत-शत नमन

धनबाद, झारखंड, पंकज अग्रवाल : निरसा के केलियाशोल प्रखण्ड अंतर्गत बड़बाड़ी गांव निवासी स्वतंत्रता सेनानी फकीर चंद्र दाँ (95वर्ष) का निधन हो गया। स्व. दां का जन्म 1 जनवरी 1923 मे बड़बाड़ी में हुई थी। स्वाधीनता के लिए फकीर दाँ ने झरिया में होटल मे दिनभर काम करते थे। रात मे अंग्रेजो द्वारा चलाए गए ट्रेनो को लुट कर स्वाधीनता आंदोलन के काम पर लगाते थे।
अंग्रेजो ने दां को गिरफ्तार कर हजारीबाग जेल भेज दिया, जहाँ डॉ. राजेन्द्र प्रसाद तथा महात्मा गांधी के साथ जेल में 6 महीने तक रहे। देश स्वाधीन होने के बाद 1956 मे बांदरचुआ प्राथमिक विद्यालय, बाद मे बड़बाड़ी प्राथमिक विद्यालय मे प्रधानाध्यापक के रूप मे सेवा दिए थे। उन्होंने 1987 साल में श्री ठाकुर अनुकूल जी के सतसंग मे योगदान देकर राह से भटके हुए लोगो को प्रेरणा देकर समाज से जोड़ने का काम किया।
स्वगीॅय फकीर चंद्र दाँ का अंतिम संस्कार आज सांगामहुल घाट पर राजकीय सम्मान के साथ किया गया। अंतिम संस्कार मे धनबाद से भेजे गए पुलिस बल ने अंतिम सलामी दी। मौके पर निरसा के इस स्वतंत्रता सेनानी को अंतिम सलामी देने पूरा प्रशाशनिक अमला एवं राजनितिक दल के नेता विधायक एवं समाज के लोग भी पहुंचे।

Share This Post

Post Comment