मेट्रो ट्रेन में यात्रा करने के लिए स्टेशन पर टोकन के बजाय अब मिलेगी पर्ची

गौतमबुद्धनगर, उत्तर प्रदेश/नगर संवाददाताः नोएडा से ग्रेटर नोएडा के बीच एक्वा लाइन मेट्रो का सफर करने के लिए लोगों को टोकन नहीं मिलेंगे। वहीं किसी भी अन्य मेट्रो का टोकन एक्वा लाइन मेट्रो में कार्य नहीं करेगा। एक्वा लाइन मेट्रो का सफर करने के लिए यात्रियों को अलग से टिकट पर्ची लेनी ही होगी। इस पर्ची पर क्यूआर कोड होगा। यह पर्ची टोकन की तरह ही कार्य करेगी। अंतर सिर्फ इतना होगा कि स्टेशन से बाहर निकलने के लिए टोकन को मशीन में डालना होता है, जबकि इस पर्ची को लोग अपने साथ लेकर निकल सकेंगे। वहीं एक्वा लाइन मेट्रो में सफर करने के लिए मोबाइल पर भी क्यूआर कोड मिल जाएगा, जिससे लोगों को पर्ची लेने की जरूरत भी नहीं होगी। एनएमआरसी अधिकारियों ने बताया कि एक्वा लाइन मेट्रो में टोकन सिस्टम लागू नहीं होगा। टोकन के बजाय यहां लोगों को यात्र करने के लिए पर्ची मिलेगी। इस पर्ची पर क्यूआर कोड होगा। इस पर्ची का प्रयोग सिर्फ दो बार किया जा सकेगा। पहली बार स्टेशन से प्लेटफार्म पर प्रवेश करने के लिए और दूसरी बार पर्ची का प्रयोग यात्र खत्म होने पर प्लेटफार्म से बाहर निकलने के लिए किया जाएगा। एग्जिट गेट पर स्कैन होते ही यह पर्ची बेकार हो जाएगी। यह पर्ची पूरी तरह से टोकन की तरह ही कार्य करेगी। वहीं क्यूआर कोड लोगों को उनके मोबाइल पर भी उपलब्ध हो सकेगा। जिससे लोगों को मोबाइल एप के जिरए टिकट बुक कर सकेंगे और यात्र के लिए टिकट लेने को लाइन में लगने की जरूरत नहीं होगी। देश में अभी कोच्चि मेट्रो में क्यूआर टिकट का प्रयोग किया जा रहा है। इसके अलावा विदेशों में चलने वाली मेट्रो में इस तरह के कागज के टिकट दिए जाते हैं। ऐसे में नोएडा में पहली बार इसका प्रयोग करने की तैयारी की गई है। इसके बाद वन टाइम वन सिटी कॉर्ड शुरू किया जाएगा। जिसके लिए निविदा जारी की जा चुकी है।

Share This Post

Post Comment