एंबुलेंस चालक से विवाद के बाद गंगनहर में कूदी गाजियाबाद की युवती

हरिद्वार, उत्तराखंड/नगर संवाददाताः ज्वालापुर में गाजियाबाद की एक युवती ने संदिग्ध परिस्थितियों में गंगनहर में छलांग लगा दी। पुलिस के मुताबिक, युवती के भाई की निजी अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई थी और परिवार का एंबुलेंस चालक से भी विवाद हुआ था। हालांकि, युवती के नहर में छलांग लगाने के बाद परिवार बेटे का शव लेकर गाजियाबाद लौट गया। पुलिस के मुताबिक, गाजियाबाद के प्रेम नगर निवासी फारुख अहमद के पुत्र का ज्वालापुर पीठ बाजार के एक अस्पताल में इलाज चल रहा था। इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। परिवार बेटे का शव लेकर गाजियाबाद लौट रहा था। इसी दौरान एंबुलेंस चालक से उनका विवाद हो गया। बताया गया है कि उसने सब गाजियाबाद ले जाने से मना कर दिया। इस पर फारुक अहमद की बेटी आयशा ने जटवाड़ा पुल पर गंगनहर में छलांग लगा दी। इससे पुल पर अफरा-तफरी मच गई। आसपास के लोगों ने पुलिस को सूचना दी। कोतवाली के एसएसआई संजीव थपलियाल मौके पर पहुंचे और युवती की तलाश की, लेकिन रात में घना कोहरा होने के कारण युवती का कुछ पता नहीं चल पाया। परिवार ने अस्पताल पर इलाज में लापरवाही का आरोप भी लगाया। हालांकि, इस बारे में कोई तहरीर नहीं दी गई। कुछ देर रुकने के बाद बेटे का शव लेकर परिजन गाजियाबाद लौट गए। एसएसआइ संजीव थपलियाल का कहना है कि परिवार की तरफ से कोई तहरीर नहीं मिली है। युवती की तलाश की जाएगी।

Share This Post

Post Comment