उच्च न्यायालय ने मैकडोनाल्ड की याचिका की खारिज

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः दिल्ली उच्च न्यायालय ने रेस्तरां चलाने वाली मैकडोनाल्ड्स की याचिका खारिज कर दी है। याचिका में राष्ट्रीय कंपनी विधि न्यायाधिकरण (एनसीएलटी) द्वारा कंपनी को जारी कारण बताओ नोटिस को चुनौती दी गयी थी। कंपनी की भारतीय भागीदार विक्रम बक्शी की अवमानना से संबंधित याचिका पर एनसीएलटी ने कारण बताओ नोटिस जारी किया। बक्शी और मैकडोनाल्ड्स का कानूनी विवाद चल रहा है। न्यायाधीश आर के गाबा ने मैकडोनाल्ड की याचिका खारिज कर दी। इससे पहले अदालत ने एनसीएलटी के कारण बताओ नोटिस पर रोक लगा दी थी। बक्शी ने अवमानना याचिका दायर कर आरोप लगाया था कि मैकडोनाल्ड्स का उसका फ्रेंचाइजी लाइसेंस रद्द करने का निर्णय एनसीएलटी के 13 जुलाई 2017 के आदेश का उल्लंघन है। मैकडोनाल्ड्स ने 169 रेस्तरां के संबंध में फ्रेंचाइजी लाइसेंस रद्द करने का निर्णय किया। इन रेस्तरां का परिचालन संयुक्त उद्यम कंपनी कनाट प्लाजा रेस्तरां लि. कर रही थी। एनसीएलटी ने अपने आदेश में बक्शी को सीपीआरएल का प्रबंध निदेशक बहाल किया था और अमेरिकी कंपनी को उसके कामकाज में दखल देने से मना किया था।

Share This Post

Post Comment