साइबर अपराधियों के ठिकाने पर पुलिस का छापा

नवादा, बिहार/नगर संवाददाताः विभिन्न कंपनियों का ऑनलाइन शॉ¨पग के बहाने बिहार समेत विभिन्न प्रदेशों के सैकड़ों लोगों को ठगी का शिकार बनाने वाले गिरोह के खिलाफ वारिसलीगंज पुलिस ने कमर कस लिया है। सोमवार को थानाध्यक्ष मृत्युजंय प्रसाद ¨सह ने गुप्त सूचना के आधार पर थाना क्षेत्र के पैंगरी और मुर्गियाचक गांव के बधार में गिरोह के सदस्यों को पकड़ने के लिए जाल बिछाया। लेकिन पुलिस की भनक गिरोह के सदस्यों को लग गई और पुलिस पकड़ के आने के पूर्व एक को छोड़ सभी सदस्य भाग निकलने में सफल रहा। हालांकि पुलिस को इस दौरान बधार से 9 मोबाइल फोन, पांच विभिन्न कंपनियों का सीम कार्ड, 03 एटीएम कार्ड, दो दर्जन से अधिक एसबीआइ सहित विभिन्न बैंकों का पासबुक व चेकबुक तथा साइबर ठगी में प्रयुक्त ऑन लाईन शॉ¨पग का डेटाबेस का ¨प्रट बरामद करने में सफलता मिली। थानाध्यक्ष ने बताया कि बरामद पासबुक व चेकबुक में सर्वाधिक एसबीआई का है। फलत: उक्त शाखा के प्रबंधक के सहयोग से बैंक खाते से जुड़ी अन्य जानकारियां जुटाई जा रही है। जब्त पासबुक के बैंक खातों को लॉक कराने में पुलिस जुट गई है। पैंगरी बधार से गिरफ्तार व्यक्ति से पूछताछ किया जा रहा है। पुलिस कुछ भी स्पष्ट बताने से परहेज कर रही है। बता दें कि पड़ोसी नालंदा जिले के विभिन्न गांवों समेत थाना क्षेत्र के दर्जन भर गांवों की युवक-युवतियां ठगी के धंधे में लिप्त है। कम पढ़ा लिखा युवक इस धंधे को माध्यम बना लाखपति और लग्जरी वाहनों का स्वामी बन चुका है। इससे पूर्व ठग चेहरा पहचानो-इनाम पाओ का विज्ञापन से ठगी करता था। अब ऑन लाइन शॉ¨पग और नौकरी लगाने का झांसा को माध्यम बना धंधे को अंजाम दे रहा है। पुलिस द्वारा जब्त मोबाइल फोन पर विभिन्न स्थानों के ठगे गए, ग्राहकों का फोन लगातार आ रहा था, जिसपर ठगी के शिकार हुए लोग गालियां बक अपना पैसा वापस मांग रहे थे। जिसे पुलिस समझाबुझा रही थी। पुलिस के अनुसार अभी तो अभियान शुरू हुआ है।

Share This Post

Post Comment