गडकरी बोले, अच्छी सेवाओं के लिए देना होगा टोल टैक्स

पुणे, महाराष्ट्र/नगर संवाददाताः केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने राष्ट्रीय राजमार्गो पर टोल टैक्स में किसी भी प्रकार की छूट देने से इन्कार किया है। उन्होंने कहा कि अगर लोग अच्छी सेवाएं चाहते हैं तो उन्हें इसके लिए भुगतान करना पड़ेगा। हालांकि उन्होंने इस राय पर सहमति जताई कि टोल वसूली बंद होनी चाहिए लेकिन वह अभी राष्ट्रीय राजमार्गो पर टोल टैक्स से छूट देने का वादा नहीं कर सकते हैं। केंद्रीय मंत्री सोमवार को यहां जानेमाने मराठी कवि रामदास फुटाणे के साथ साक्षात्कार में बोल रहे थे। राष्ट्रीय राजमार्गो पर टोल टैक्स वसूली के बारे में पूछे जाने पर गडकरी ने कहा, ‘पूरी दुनिया में टोल संग्रह आम है। अच्छी सड़कों से ईधन और समय दोनों की बचत के साथ ही जीवन की सुरक्षा भी होती है। अगर आप अच्छी सेवाएं चाहते हैं तो इसके लिए आपको भुगतान करना पड़ेगा।’ उन्होंने कहा कि एक वक्त था जब पुणे से मुंबई जाने में नौ घंटे लगते थे और इस दौरान लोगों को जाम का सामना भी करना पड़ता था। अब यही दूरी महज दो घंटे में तय हो जाती है। सड़क और राजमार्ग मंत्री ने कहा कि अगले पांच साल में करीब सात लाख करोड़ रुपये की लागत से 83,677 किमी हाईवे बनाने का प्रयास है। भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण ने सड़क निर्माण कार्यक्रम के इस मेगा परियोजना के लिए वैश्विक निवेश आकर्षित करने को एक विशेष सेल की स्थापना की है। वंशवाद की राजनीति की निंदा करते हुए नितिन गडकरी ने कहा कि वह अपने सिद्धांतों पर चलते हैं। उन्होंने कहा, ‘मैंने अपने परिवार के किसी सदस्य को कभी कोई टिकट नहीं दिया और मेरे परिवार का कोई सदस्य कभी चुनाव भी नहीं लड़ेगा।’

Share This Post

Post Comment