260 महिलाओं को भगवान अयप्पा मंदिर में जाने से रोका

पथानामथिट्टा, केरला/नगर संवाददाताः भगवान अयप्पा मंदिर की ओर जा रही कम से कम 260 महिलाओं को इस साल के तीर्थयात्रा सत्र के दौरान रोका गया। प्रतिबंधित 10 से 50 साल की उम्र की महिलाओं को जिस पहाड़ी पर मंदिर स्थित है उसके आरंभ बिंदु पांबा में रोक लिया गया। यह जानकारी त्रावनकोर देवासम बोर्ड ने दी है। यही बोर्ड तीर्थस्थल की देखरेख करता है। टीडीबी के अध्यक्ष ए. पद्मकुमार ने बताया कि रोकी गई महिलाओं में से कुछ केरल की थीं और अन्य पड़ोसी राज्य तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश की थीं। पांबा में महिलाओं को पुलिस और देवासम अधिकारियों ने रोका। 41 दिनों तक चलने वाले मंडल पूजा के दौरान रूटीन के तहत उनके पहचान पत्रों की जांच की गई। मंडल पूजा 26 दिसंबर को पूरी हुई। टीडीबी अध्यक्ष ने कहा कि इस तरह बड़ी संख्या में प्रतिबंधित उम्र समूह की महिलाओं के पहुंचने का कारण परंपरा तोड़ते दिखाना या प्रतिबंध के प्रति उदासीन होना हो सकता है। बोर्ड ने केंद्र सरकार से मामले की जांच के लिए कहने का फैसला लिया है। प्रधानमंत्री को पत्र लिखा जाएगा।

Share This Post

Post Comment