स्टेट कन्सलटेन्ट ने सभासदों एवं कर्मियों को सिखाए स्वच्छता के गुर

गौंड़ा, उत्तर प्रदेश/श्याम बाबू कमलः गोण्डा शहर को देश के सबसे गन्दे शहर के दाग से मुक्त कराने के लिए प्रशासन स्तर पर लगातार बैठकें एवं प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। बुधवार को आयुक्त देवीपाटन मण्डल एस0वी0एस0 रंगाराव की अध्यक्षता में आयुक्त  सभागार में एक वृहद मीटिंग आयोजित की गई जिसमें जिले को इस बार स्वच्छता रैंकिंग में बेहतर स्थान दिलाने के लिए रणनीति पर चर्चा की गई तथा कई निर्णय भी लिए गए। बैठक में स्टेट कन्सलटेन्ट आदत्यि विद्यासागर ने अधिकारियों व सभासदों को शहर को स्वच्छ बनाने के लिए तरीके बताते हुए प्रशिक्षण दिया। आयुक्त ने बैठक में कहा कि स्वच्छता अभियान को हमें बड़े चैलेन्ज के रूप में ले लिया है अब शहर से गन्दगी मिटा कर ही दम लेना है। उन्होने कहा कि इसके लिए सबकी सक्रिय भागीदारी सुनिश्च्ति करानी होगी तभी जिले या शहर को स्वच्छ व सुन्दर बना पाना सम्भव नहीं है। लोगों का जागरूक और अपने शहर की साफ-सफाई के लिए संवेदनशील होना आवश्यक है। जब तक लोग स्वच्छता को अपनी सोच से नहीं जोड़ेगे तब तक शहर को लाख प्रयास के बावजूद स्वच्छ नहीं बनाया जा सकेगा। उन्होने निर्देश दिए गन्दगी फैलाने वालों को चिन्हित कर उनके खिलाफ कार्यवाही शुरू कर दें तथा की गई कार्यवाहियों की साप्ताहिक रिपोर्ट उन्हें हर हाल में उपलब्ध कराएं। स्वचछता के प्रति लोगों को जागरूक करने तथा लोगों अच्छी सहभागिता सुनिश्चित कराने के लिए लगातार जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन वार्डों में चलाया जाय। उन्होने ईओ नगर पालिका गोण्डा को बैठक में ही निर्देश दिए कि तत्काल प्रभाव से नगर पालिका कार्यालय में कन्ट्रोल रूम स्थापित कर कन्ट्रोल रूम नम्बर जारी करें जिस पर नगरवासी अपनी शिकायतें दर्ज करा सकें। उन्होने निर्देश दिए कि पालिका कार्यालय में प्राप्त शिकायतों को सूचीबद्ध करने के लिए कमचारियों की ड्यूटी लगाई जाय तथा सके निस्तारण की रिपोर्ट शिकायत पंजिका में दर्ज करी जाय। उन्होने नवनिर्वाचित सभासदों का उत्साहवर्धन करते हुए कहा कि सबसे स्वच्छ वार्ड के सभासद को पुरस्कृत भी किया जायेगा। उन्होने कहा कि गन्दगी फैलाने वालों से गांधीगीरी से सुधारने का प्रयास किया जाएगा परन्तु बार-बार अनुरोध करने के बावजूद न मानने वालों के खिलाफ अगले पन्द्रह दिनों में कार्यवाही शुरू हो जाएगी। उन्होने नगर के व्यपारियों से अपील की है आने वाले पन्द्रह दिनों में सभी दुकानदारों चाहे वे स्थाई दुकानदार हों अथवा ठेले या खुमचे वाले हों वे अनिवार्य रूप से अपनी दुकानों पर डस्टबिन रखें वरना उन जुर्माना लगाया जाएगा। जिलाधिकारी को माह में दो बार स्वच्छता की स्थिति की समीक्षा करने के निर्देश दिए हैं। इसके अलावा पूरे नगर क्षेत्र में अतिक्रमण हटाने के लिए अभियान चलाएं और इसकी साप्ताहिक रिपोर्ट उन्हें उपलब्ध कराएगें। स्टेट कन्सलटेन्ट आदित्य विद्या सागर ने कहा कि लोगों के मन अपने शहर के प्रति प्रेम पैदा करें, कूड़ा प्रबन्धन की समुचित व्यवस्था की जाये तथा शीघ्र ही डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन की व्यवस्था लागू की जाय जिससे लोग कूड़े का इधर उधर न फेंकें। आयुक्त सभागार में स्टेट कन्सलटेन्ट द्वारा पाव प्वाइन्ट प्रजेन्टेशन के माध्यम से स्वच्छता सम्बन्धी बारीकियों की जानकारी दी गई। उन्होने कहा कि 04 जनवरी से शुरू होने वाले स्वच्छ सर्वेंक्षण के लिए नगरवासियों को तैयार किया जाय और इसका व्यापक प्रचार-प्रसार नगरवासियों के बीच किया जाए जिससे लोग स्वच्छता के प्रति जागरूक हों और जिले का इस बार के सर्वेक्षण में अच्छे अंक प्राप्त हों। बैठक में  स्टेट कन्सलटेन्ट आदित्य विद्यासगार, ईओ नगरपालिका गोण्डा स्वर्ण सिंह, वार्डों के सभासद तथा नगरपालिका के अधिकारी कर्मचारीगण उपस्थित रहे।

Share This Post

Post Comment