क्रिसमस को धार्मिक सहनशीलता और शांति से मनाने का आह्वान

WhatsApp Image 2017-12-25 at 1.15.44 PM

चंडीगढ, पंजाब/ अमित शर्मा – पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने धार्मिक असहनशीलता के बढ़ रहे संस्कृति को ख़त्म करने का आह्वान किया है जिस संबंधी अनेक घटनांए देश के विभिन्न हिस्सों में घटी हैं। मुख्यमंत्री ने क्रिसमस के अवसर पर पंजाबियों विशेषकर इसाईयों को बधाई देते हुए कहा कि भारत की धर्म निरपेक्षता ही इसकी सबसे बड़ी ताकत है और इसकी सांप्रदायिक सदभावना को भंग करने की किसी भी कोशिश को पनपने नहीं देना चाहिए। क्रिसमस को न केवल ईसाई समुदाय बल्कि सभी धर्मों के लोगों के लिए खुशियों का अवसर बताते हुए कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि न केवल ईसाई समुदाय बल्कि सभी समुदायों की की सुरक्षा इसके प्रत्येक व्यक्ति और संस्था की है जो भारतीय संविधान में विश्वास रखते हैं। वहीं दूसरी ओर पंजाब विधानसभा के स्पीकर राणा के पी सिंह ने ईसाई समुदाय को क्रिसमस की बधाई दी है। उन्होंने अपने संदेश में कहा कि क्रिसमस केवल ईसाईयों के लिए ही नही बल्कि सभी धर्मो के लोगों के लिए खुशियों का अवसर है। उन्होंने कहा कि हम सभी को मिलकर प्यार और आपसी सद्भावना का उदाहरण प्रस्तुत करते हुये इस त्यौहार को मनाना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि भारतीय संविधान में उल्लेख किये गये विभिन्नता में एकता के विश्वास को किसी भी स्थिति में क्षति नहीं पहुंचानी चाहिए क्योंकि कुछ स्वार्थी तत्व अपने निजी एजंडे को बढ़ावा देने के लिए ऐसी कोशिश कर रहे हैं।  कैप्टन अमरिंदर ने कहा कि यदि भारत सभी समुदायों, जातियों और धर्मों को शांत वातावरण प्रदान नहीं कर सकता तो वह विश्व शक्ति बनने के योग्य नहीं है। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि धार्मिक हिंसा और असहनशीलता देश को विपरित दिशा की ओर ले जायेंगे। उन्होंने समस्त लोगों से अपील की कि वे एकजुट होकर क्रिसमस को उत्साह और ख़ुशी से मनायें।

Share This Post

Post Comment