देश में अवैध रूप से रह रहे हैं 40 हजार रोहिंग्या

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः देश में करीब 40 हजार रोहिंग्या प्रवासी अवैध रूप से रह रहे हैं। इनमें से किसी को भी वापस नहीं भेजा गया। सरकार ने मंगलवार को यह जानकारी लोकसभा में दी। गृह राज्यमंत्री किरण रिजिजू ने सदन में एक लिखित जवाब में कहा कि चूंकि अवैध प्रवासी देश में चोरी-छिपे रह रहे हैं, इसलिए उनका सही आंकडा उपलब्ध नहीं है। एक अनुमान के अनुसार, रोहिंग्याओं की संख्या 40 हजार हो सकती है। रिजिजू ने बताया कि भारत शरणार्थियों से संबंधित संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन 1951 तथा 1967 के प्रोटोकॉल का हस्ताक्षरी देश नहीं है। लेकिन शरणार्थियों को सुरक्षा देने के मामले में देश का रिकॉर्ड अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रशंसनीय रहा है। उन्होंने यह भी बताया कि शरणार्थियों तथा देश में शरण मांगने वालों के लिए कोई कानून नहीं है।

Share This Post

Post Comment