धोखाधड़ी कर ढेढ़ करोड़ का चुना लगा महिला गायब

सीवान, बिहार/संजय कुमारः महाराजगंज/सीवान अनुमंडल मुख्यालय शहर में लगभग आधा दर्जन माइक्रो फाइनेंस कंपनी कार्य कर रही है जो शहरी क्षेत्र व ग्रामीण क्षेत्र के महिलाओं को एक कमेटी बनाकर लोन मुहैया कराती है जिसमें शहर के मोहन बाजार निवासी फुल कुमारी ने लगभग 100 महिलाओं के साथ धोखाधड़ी कर लगभग डेढ़ करोड़ रुपए हेरा फेरी कर लेने का मामला उजागर हुआ है। खबर के संबंध में लोगों ने बताया कि माइक्रो फाइनेंस कंपनीयाँ 10 महिलाओं का एक टीम बनाते थे और उसमें एक टीम लीडर बनाते थे और दसों महिलाओं को लोन मुहैया कराते हैं और 1 सप्ताह और 15 दिन पर उस पैसे का किस्त बनाकर मीटिंग के माध्यम से माइक्रोफाइनेंस कर्मी पैसा जमा ले लेते हैं माइक्रो फाइनेंस के नियमानुसार यदि 10 मेंबरों में से 2 मेंबर पैसा नहीं देते हैं तो उसकी सारी जवाबदेही टीम लीडर की होती है। टीम लीडर के संबंध में जब बैंक कर्मी से पूछा गया तो बैंक कर्मियों का कहना था कि टीम लीडर का काम यही होता है कि जो मीटिंग में नहीं आएगा उसको बुला कर के लाना पैसा उसे जमा करवाना टीम लीडर का कार्य होता है पैसा की सारी जवाबदेही अकाउंट होल्डर को ही होता है जिसके नाम से लोन फंक्शन होता है एक प्रश्न के जवाब में बैंक कर्मियों ने बताया कि जो इंश्योरेंस होता है वह अकाउंट होल्डर और उसके नॉमिनी प्रश्न का होता है कि देहांत हो जाने की स्थिति में लोन कंपनी को इन्श्योरेंस कंपनी पैसा देकर बैंक से वह खाता बंद करवाती है।‎ बुधवार अगले सुबह पूरे शहर में फूल कुमारी के द्वारा करोड़ों रुपए चकमा देकर महिलाओं से ठगने का मामला जंगल में आग की तरह फैला दो जहां था वहीं फूल कुमारी के कृत्य को जानकर दंग रह गया पूरे शहर में पैसा का धोखाधड़ी का चर्चाओं का बाजार गरम है।

Share This Post

Post Comment