अजीतगढ़ निवासी डॉ. हरी शंकर पलसानिया बने राजस्थान यूनिवर्सिटी मुख्य कुलानुशासक

WhatsApp Image 2017-12-06 at 6.27.16 PM

जयपुर, राजस्थान/विकास शर्माः कस्बा निवासी और राजस्थान यूनिवर्सिटी फिजिक्स विभाग में एसोशिएट प्रोफेसर डॉ. हरी शंकर पलसानिया को गुरुवार को कुलपति प्रो. आर.के .कोठारी ने मुख्य कुलानुशासक नियुक्त किया है। पलसानिया की नियुक्ति पर अजीतगढ़ समेत आसपास के ग्रामीण इलाके के विभिन्न संगठनों ने खुशी व्यक्त की है। श्रीमाधोपुर विधायक झाबर सिंह खर्रा, उपखंड अधिकारी ब्रह्मलाल जाट, तहसीलदार सुमन चौधरी, नायब तहसीलदार केदार नाथ सैनी, एसएचओ हिम्मत सिंह, बाबा नारायणदास राजकीय सामान्य अस्पताल पीएमओ डॉ. सतीश कौशिक, शिक्षाविद शिवकुमार जोशी, घनश्याम पारीक, क्षेत्रीय विकास परिषद् अध्यक्ष ग्यारसीलाल टेलर, पूर्व अध्यक्ष मोहम्मद शरीफ गौरी, प्रवक्ता विक्रम सिंह बांकावत, अजीतगढ़ विकास समिति के पवन टेलर, हेमन्त पारीक, भाजपा नगर अध्यक्ष मक्खन लाल स्वामी, पूर्व सरपंच जगदीश चौधरी समेत अनेक लोगों ने पलसानिया को बधाई दी है। उल्लेखनीय है कि कस्बे ले मोहल्ला कुसुमपुरा के मूलनिवासी पलसानिया ने कक्षा 8 तक कि शिक्षा अजीतगढ़ में ली तथा कक्षा 11 तक अमरसर में विज्ञान संकाय की पढ़ाई करके जयपुर में कॉलेज की शिक्षा ली। यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर के बतौर विज्ञान विभाग में नाभिकीय भौतिकी विषय मे अनेक रिसर्च किए, रिसर्च के लिए अनेको बार विदेश में भी यात्रा की है। गुरुवार को मुख्य कुलानुशासक बनने पर भास्कर से बातचीत में पलसानिया ने गांव के बच्चों को सदैव शिक्षा में मनोयोग से अध्ययन करने की बात कहते हुए कहा कि अब तो अजीतगढ़ में विज्ञान संकाय स्कूल में उपलब्ध है । विज्ञान विषय मे अध्ययन करके राष्ट्रहित में रचनात्मक कार्यों की ओर अग्रसर हो।

Share This Post

Post Comment