दिल्ली के प्रदूषण पर केजरीवाल सरकार की कलई खोलने का मसौदा तैयार

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः संसद के शीतकालीन सत्र को दिल्ली का वायु प्रदूषण भी गर्माहट देगा। इस मुद्दे पर न केवल सदन के पटल पर विस्तृत रिपोर्ट रखी जाएगी, बल्कि यह भी स्पष्ट किया जाएगा कि स्मॉग की स्थिति से स्थायी तौर पर निपटने को क्या-कुछ योजनाएं बनाई गई हैं। इस संबंध में सांसदों के संभावित प्रश्नों का अग्रिम जवाब भी तैयार किया जा रहा है। साथ ही दिल्ली सरकार की कलई खोलने का मसौदा भी तैयार कर लिया गया है। पिछले साल नवंबर में दिल्ली स्मॉग चैंबर बनी तो यह मसला अंतरराष्ट्रीय स्तर तक चर्चा का केंद्र बना था। तमाम स्तरों पर कवायद शुरू हुई और जनवरी में केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्रालय ने ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान (ग्रेप) की अधिसूचना जारी कर दी। बावजूद इसके इस साल फिर वही हालात बने। स्थिति भी इस हद तक बिगड़ गई कि प्रधानमंत्री कार्यालय को हस्तक्षेप करना पड़ा। ऐसे में 15 दिसंबर से पांच जनवरी के मध्य संभावित संसद के शीतकालीन सत्र में इस बार दिल्ली का वायु प्रदूषण भी हंगामे वाली चर्चा का बिंदु रहेगा। इसीलिए केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय के संकेत पर केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) इन दिनों युद्ध स्तर पर अपनी तैयारी में जुटा है। सूत्र बताते हैं कि विस्तृत रिपोर्ट बनाई जा रही है कि इस साल फिर से दिल्ली स्मॉग चैंबर क्यों बनी ? इसके पीछे क्या बड़ी वजहें रहीं और साल भर में किए गए उपाय नाकाम कैसे हो गए ? अपने बचाव में सीपीसीबी ने दिल्ली सरकार को लपेटने की तैयारी भी कर ली है। संसद में बताया जाएगा कि सीपीसीबी की 40 टीमों ने लगातार दो महीने तक दिल्ली सरकार नियंत्रित दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति (डीपीसीसी) को रोज ग्राउंड रिपोर्ट बनाकर भेजी, किन्तु कोई कार्रवाई नहीं की गई। पराली पर आरोप-प्रत्यारोप में उलझी दिल्ली सरकार का रवैया ग्रेप पर भी असहयोगात्मक रहा। दिल्ली सरकार कहती कुछ रही जबकि करती कुछ रही। सीपीसीबी के सदस्य सचिव ए. सुधाकर का कहना है कि इस बार संसद के शीतकालीन सत्र में दिल्ली के वायु प्रदूषण पर भी चर्चा की प्रबल संभावना है। इसलिए रिपोर्ट तैयार की जा रही है कि स्थिति को संभालने के लिए सीपीसीबी ने क्या-क्या कदम उठाए। साथ ही पर्यावरण प्रदूषण नियंत्रण-संरक्षण प्राधिकरण (ईपीसीए) संग मिलकर कहां क्या पहल की गई। सांसदों द्वारा पूछे जा सकने वाले प्रश्नों का जवाब भी तैयार किया जा रहा है।

Share This Post

Post Comment