दिल्ली में फिर स्मॉग बढ़ने के आसार, हवा की गति बढ़ने से कम हुआ प्रदूषण का स्तर

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः मौसम के उतार-चढ़ाव के बीच बढ़ी हुई हवा की गति ने प्रदूषण की हवा निकाल दी है। बृहस्पतिवार को हवा की गति आठ से दस किलोमीटर प्रति घंटे के बीच रही। प्रदूषण का स्तर एक बार फिर 300 से नीचे दर्ज हुआ। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के अनुसार आसार हैं कि अगले 24 घंटो तक दिल्ली में यही स्थिति बनी रहेगी। सीपीसीबी के अनुसार बृहस्पतिवार को दिल्ली में एयर क्वालिटी इंडेक्स 288 रहा। बुधवार को यह 320 दर्ज किया गया था। एयर इंडेक्स में 32 प्वाइंट की गिरावट दर्ज होने की वजह सिर्फ हवा की गति बढ़ना ही है। सफर इंडिया के मुताबिक दिल्ली में बृहस्पतिवार को पीएम 2.5 की औसतन मात्रा 137 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर रही। शुक्रवार को भी तापमान में बहुत अधिक बढ़ोतरी होने के आसार नहीं है। कुछ जगहों पर पीएम 2.5 का स्तर अब भी 300 से अधिक बना हुआ है। इनमें पीतमपुरा में 315, डीयू में 323, लोधी रोड पर 326, एयरपोर्ट पर 317, मथुरा रोड पर 338, आया नगर में 307 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर पीएम 2.5 का स्तर दर्ज किया गया। करीब दो सप्ताह बाद पर्यावरण प्रदूषण नियंत्रण-संरक्षण प्राधिकरण (ईपीसीए) अब ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान (ग्रेप) के तहत बैठक करेगा। यह बैठक शुक्रवार को तय हुई है। बताया जा रहा है कि इसमें 28 नवंबर से बढ़ रहे स्मॉग सीजन की तैयारियों पर रणनीति तैयार की जाएगी। पिछले स्मॉग सीजन की खामियों पर भी चर्चा होगी और उन कमियों को दूर करने के लिए अब तक संबंधित एजेंसियों ने क्या कदम उठाए, यह भी चर्चा होगी। सभी से यह भी पूछा जाएगा कि पार्किंग फीस को चार गुना करने के दौरान इस बार उसे कैसे क्रियान्वित किया जाये। इस बार यह रणनीति फ्लाप रही थी और लोगों की परेशानियां बढ़ गईं थीं। इसकी वजह से जाम की समस्या भी बढ़ गई। गौरतलब है कि मौसम विभाग और स्काईमेट वेदर दोनों ने 28 नवंबर के बाद कोहरा बढ़ने की संभावनाएं बताई हैं। इससे हवा की गति भी कम होगी और दिल्ली में फिर से स्मॉग बढ़ने के आसार हैं।

 

Share This Post

Post Comment