गुठनी में बालू लदे 16 ट्रक पकड़े गये

सीवान, बिहार/विपीन कुमारः डीएम व एसपी जिलाधिकारी द्वारा दिये गये निर्देश के आलोक में गुठनी की यूपी सीमा से हो रही बालू तस्करी पर निगरानी तो बढ़ गयी है, परंतु धंधेबाज बाज नहीं आ रहे हैं। प्रशासन के साथ तू डाल-डाल, तो मैं पात-पात का खेल खेल रहे हैं। पुलिस ने गुरुवार की रात श्रीकलपुर चेक पोस्ट से तीन ट्रक को बालू लाद कर यूपी जाने के प्रयास में पकड़ा है। वहीं, धंधेबाजों ने आधा दर्जन ट्रक गुठनी के सोहगरा क्षेत्र के सीमा से यूपी में पास करवा दिया। तीन ट्रक पकड़ने की जानकारी चेक पोस्ट प्रभारी जनार्दन सिंह ने दी। वहीं, सोहगरा से पास होने वाले बालू लदे ट्रकों की जानकारी ग्रामीणों ने दी। ग्रामीणों ने बताया कि रात में भारी वाहन इस मार्ग पर बहुत कम चलते हैं, लेकिन पिछले तीन दिनों से भारी वाहन का जाना जारी है। बालू की तस्करी में लगे धंधेबाज अब यूपी जाने के लिए संपर्क मार्गों का इस्तेमाल प्रशासन की नजर बचा कर रहे हैं। शुक्रवार की प्रातः यूपी मुख्य मार्ग पर सीमा से लगभग 600 मीटर अंदर बिहार क्षेत्र में दो दर्जन से अधिक बालू लदे ट्रक भिन्न-भिन्न स्थानों पर खड़े दिखे। अनुमान है कि ये ट्रक निगरानी के कारण नहीं जा सके और अब भी प्रयास में लगे हैं। हालांकि एक ट्रक चालक ने कहा अब इधर ही बेचना पड़ेगा। वहीं, कई ट्रक चालक ने अपना ट्रक वापस घुमा लिया तथा बिहार क्षेत्र में बेचने चला गया। गिरफ्तार चालकों में सारण जिले के दरियापुर थाना क्षेत्र के बड़का बरिया गांव निवासी अमरीका मांझी का पुत्र जयनाथ मांझी, यूपी के देवरिया जिले के रामपुर कारखाना थाना क्षेत्र के सौहार्द पट्टी गांव निवासी रामनयन सिंह का पुत्र हरेंद्र सिंह, छपरा नगर थाना के रोजा पोखरा निवासी प्रभु राम का पुत्र बद्री राम है। थानाध्यक्ष मिथिलेश कुमार ने बताया गिरफ्तार तीनों चालकों को न्यायिक हिरासत में भेजा जा रहा है।

Share This Post

Post Comment