मलिहाबाद में ग्राम प्रधान की हत्या, नाले में फेंका शव

लखनऊ, उत्तर प्रदेश/नगर संवाददाताः मलिहाबाद स्थित दुलारमऊ ग्राम पंचायत के प्रधान मनोज रावत (35) की शनिवार देर रात हत्या कर दी गई। उनका शव सुबह भुलसी पुरवा महदोइया मार्ग पर सड़क किनारे नाले के कीचड़ में औंधे मुंह पड़ा मिला। घटनास्थल दतली गांव के प्राथमिक विद्यालय से महज सौ मीटर की दूरी पर है। शव के करीब ही मनोज की बाइक भी पड़ी मिली। घरवालों ने सुबह हत्या का आरोप लगाकर शव को सड़क पर रखकर जमकर प्रदर्शन किया और पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर हत्यारों की जल्द गिरफ्तारी की मांग की। मलिहाबाद कोतवाली में हत्या का आरोप लगाते हुए तहरीर भी दी, पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। उधर शाम को भी प्रधान के शव को पोस्टमॉर्टम के बाद लखनऊ-हरदोई राजमार्ग पर रखकर दो घंटे प्रदर्शन किया गया, साथ ही दस लाख रुपये मुआवजे और आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग की गई। एसडीएम मलिहाबाद जय प्रकाश अग्निहोत्री के आश्वासन पर प्रदर्शनकारी शांत हुए। घटनास्थल पर पहुंचे मोहनलालगंज के सांसद कौशल किशोर ने बताया कि प्रथम दृष्टया ऐसा लग रहा है कि किसी ने सड़क से धक्का देकर मनोज को नाले में गिरा दिया। औंधे मुंह नाले में गिरने के चलते उसकी जान चली गई, नाले में बहुत कम पानी था। हत्यारों ने हत्या की घटना को हादसे का रूप देने का पूरा प्रयास किया है। सांसद ने पुलिस को हत्यारों का पता लगाकर उनकी जल्द गिरफ्तारी के निर्देश दिए। इंस्पेक्टर मलिहाबाद अरुण कुमार सिंह ने बताया कि मनोज शराब पीता था, प्रथम दृष्टया सड़क से नाले में गिरने से मौत लग रही है, आगे की कार्रवाई पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के आधार पर की जाएगी। भुलसी गांव निवासी मनोज की पत्नी ऊषा देवी के मुताबिक शनिवार शाम छह बजे के करीब अजय, प्रताप और जगतपाल मनोज को घर से बुलाकर ले गए थे। वह बाइक लेकर तीनों के साथ गए थे। रात आठ बजे के करीब ऊषा ने मनोज को फोन किया तो उन्होंने कहा कि रास्ते में हूं, आ रहा हूं। इसके बाद कॉल डिस्कनेक्ट हो गई। रात दस बजे तक जब मनोज नहीं आए तो ऊषा ने उन्हें कई बार फोन मिलाया, लेकिन फोन नहीं मिला। घरवाले रातभर परेशान रहे और खोजबीन करते रहे। सुबह करीब छह बजे कुछ महिलाएं वहां से गुजर रहीं थीं, तभी उन्होंने शव देखा। शिनाख्त के बाद मनोज के घरवालों के साथ पुलिस को सूचना दी।

Share This Post

Post Comment