शिक्षा ही समाज को बच्चों के अधिकारों के प्रति सचेत

WhatsApp Image 2017-11-16 at 1.03.27 PM (1)

गोंड़ा, उत्तर प्रदेश/श्याम बाबूः देवीपाटन प्रेस क्लब द्वारा बाल दिवस के अवसर पर आसाम से गोण्डा में आकर जिला चिकित्सालय के पीछे छेदी पूरवा तकिया में रह रहे कूड़ा बीनने वाले परिवारों के बच्चों को शिक्षित करने का बीड़ा उठाया है। कार्यक्रम में आए हुए देवीपाटन मंडल के उप श्रमायुक्त शमीम अख्तर अंसारी ने बच्चों परिजनों को प्रेरित किया कि वह अपने बच्चों से अपने कार्यों में हाथ न बटायें और उन्हें पढ़ने के लिए भेजें। उन्होंने उपस्थित परिजनों को बताया कि बच्चे भगवान का रूप होते हैं। उनके मन में मैल या कपट नहीं होता है। वे सभी से निश्छल प्रेम करते हैं और बड़ों के दिए गए संस्कारों का पालन करते हैं। अपनी इसी निर्दोष वृति के कारण बच्चे लगभग सभी का मन मोह लेते हैं। बच्चों का पालनपोषण सावधानी व प्रेमपूर्वक किया जाना चाहिए, क्योंकि वे देश का भविष्य और कल के नागरिक हैं। प्रेस क्लब के अध्यक्ष एच. पी. श्रीवास्तव ने कहा कि देवीपाटन प्रेस क्लब की ऐसी सोच रखता है कि हम ऐसे समाज का निर्माण करें जहाँ निर्बल ,गरीब व असहाय लोग परिवार के जीविकोपार्जन के लिये बच्चो से बाल श्रम ना करवायें, हमारा प्रयास है कि ऐसा समाज हो जिसमें ऐसे लोगो का भी बच्चा स्कूल जाता हो और उसे तलीम मिले। प्रेस क्लब के संस्थापक सदस्य राजेन्द्र सिंह ने कहा कि बच्चे देश के भविष्य हैं, अत: इनके विकास के बारे में चिंतन करना तथा कुछ ठोस प्रयास करना हम सब की जिम्मेदारी है। देश का समुचित विकास बच्चों के विकास के बिना संभव नहीं है बच्चों को शिक्षित बनाने, बाल श्रम पर अंकुश लगाने, उनके पोषण का उचित ध्यान रखने तथा उनके चारित्रिक विकास के लिए प्रयासरत रहने से बच्चों का भविष्य सँवारा जा सकता है। प्रेस क्लब के सचिव सुशील पांडे ने परिजनों के बीच बताया कि शिक्षा ही समाज को बच्चों के अधिकारों के प्रति सचेत करते हैं। वे लोगों में पर्यावरण शिक्षा के अलख से बाल श्रम के विरुद्ध संघर्ष की झलक सुनाई देती है । इस अवसर पर प्रेस क्लब के अमित मिश्रा राहुल मिश्रा कमाल खान अशफाक आदि दर्जनों लोग उपस्थित रहे !

Share This Post

Post Comment