ऑड ईवन और पानी के छिड़ाव से प्रदूषण मुक्त होगी दिल्ली, प्लान पर अमल शुरू

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः दिल्ली की जहरीली हवा से लोगों को राहत देने के लिए दिल्ली सरकार ने एक बार फिर से ऑड ईवन फॉर्मूला अपनाने का फैसला लिया है। साथ ही प्रदूषण के खिलाफ इस जंग में फायर ब्रिगेड, डीएमआरसी, डीटीसी और प्राइवेट बस ऑपरेटर्स की मदद ली जाएगी। दिल्ली-एनसीआर की जहरीली हवा दिन पर दिन बदतर होती जा रही है। ना चाहते हुए भी लोग इस हवा में सांस लेने को मजबूर हैं. 17 नवंबर तक दिल्ली में ऑड ईवन फार्मूला लागू रहेगा जिसकी शुरुआत अब सोमवार से होगी। सोमवार, बुधवार और शुक्रवार को वो गाड़ियां सड़कों पर उतरेंगी जिनके आखिर में 1,3,5,7,9 नंबर हैं
– मंगलवार और गुरुवार वो गाड़ियां चलेंगी जिनके आखिर में 2,4,6,8,0 नंबर हैं।
– पिछली बार की तरह कई छूट इस बार भी जारी रहेंगी लेकिन -इस बार ऑटो और टैक्सी को भी इसके दायरे में रखा गया है।
– मोटर साइकिलों को छूट दी गई है

केजरीवाल सरकार के इस फैसले के बाद दिल्ली की सड़कों से हर दिन औसतन 13 लाख गाड़ियां कम दिखेंगी जिसका सीधा असर आम जनता पर पड़ेगा लेकिन इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए सरकार ने और कई उपाय किए हैं.

– दिल्ली में डीटीसी की 4 हजार बसें पहले से मौजद हैं

– साथ ही 1600 कलस्टर बसें भी अपने सेवा दे रही हैं- इसके अलावा सरकारा ने 500 बसों को किराए पर लेने की बात कही है
– ऑड ईवन फॉर्मूले को कामयाब बनाने के लिए डीएमआरसी अपनी 100 अतिरिक्त बसें चलाएगी
– दिल्ली के स्कूलों में लगी लगभग 5000 बसों को भी सरकार की मुहिम से जुड़ने की अपील की गई है

हालांकि दिल्ली सरकार के इस फैसले से लोग ज्यादा खुश नहीं दिख रहे. इसकी वजह कई हैं लेकिन एक बड़ा कारण है कि दिल्ली के तीनों नगर निगमों ने पार्किंग शुल्क में 4 गुना इजाफा किया है. दक्षिणी दिल्ली नगर निगम ने कार के लिए हर घंटे के लिए पार्किंग फीस 80 रुपए कर दी है जबकि पूरे दिन के पार्किंग फीस 400 रुपए होगी. उत्तरी और पूर्वी दिल्ली नगर निगम में कार की पार्किंग फीस पहले घंटे के लिए 80 रुपए होगी और अतिरिक्त एक घंटे के लिए होगी 40 रुपए. 5 घंटे के लिए पार्किंग फीस 50 रुपए से बढ़ाकर 200 रुपए कर दी गई है.

 

Share This Post

Post Comment