बाली के चाय वाले की बेटी ने जयपुर में सुर संगम में दिल जीता दिलहीं के लिए हुआ चयन

पाली, राजस्थान/महेन्द्र कुमारः बाली की 22 वर्षीय संतोष रावल ने कलश चैनल द्वारा जयपुर में आयोजित शिनिंग संगीत प्रतिभा के 3 दिवसीय सुर सगीत प्रतियोगिता में अपने मनमोहक सुर सगीत की बदौलत 300 प्रतियोगियों में बाली की संतोष रावल के चयन ने बाली को एक संगीत सुर की नई पहचान दिलाई है अब संतोष रावल दिल्ही में आयोजित इसी कार्यक्रम का हिस्सा बनेगी जहा हर स्टेट की चयन सुर सगीत की धनी महिलाओ से मुकाबला करेगी। संतोष रावल 20 वर्ष की उम्र से गानो के लगाव से जुडी रही यह इण्डिया गोट टेलेंट इन्डियन आइडल शो के अलावा दूरदर्शन पर भी अपनी सुरीली आवाज का जादू बिखेर चुकी है। सुर सगम स्वर की महारथ हासिल कर चुकी बाली की संतोष रावल ने अपनी बढ़ती कामयाबी और लोकपिरयता के बावजूद कभी घमण्ड या लालच से नाता नही रखा। संतोष रावल का नाम आज प्रदेश की संगीत सुर की दुनिया में अनजान या परिचय का मोहताज नही ख्याति प्राप्त संतोष रावल के पिता के पिता आज भी चाय की दुकान चला कर अपना साधारण व्यक्तित्व से परिवार का पालन पोषण करते है सन्तोष भी अपने पिता की मेहनत की कमाई से संतुस्ट नजर आती है। गायक कलाकार संतोष रावल ने सुर सगीत गायन की कभी ना तो ट्रेनिग ली ना कहि ट्यूशन किया ना किसी कलाकार के पास नोकरी की यह सब कुछ हासिल हुआ जोश जूनून जज्बे से संतोष को गाने गुनगाने की आदत थी सुर लोगो को अच्छे लगते लोग तारीफ़ करते तो संतोष ने गाने गाने चालू किये और किश्मत ने साथ दिया और पहला गाना स्कूल परिषर में गाया और पॉपुलर हुआ गाना तो सजीव नंदा की फ़िल्म में 2 गाने गाने का अवशर मिला उसके बाद इण्डिया गोट और मुकेश की यादो जेसे शो में भाग लेकर बाली को गोरणवित किया। जयपुर में तानशेन संगीत महाविधालय में कलश चैनल द्वरा आयोजित 3 दिवशीय महिला सुर सम्राट प्रतियोगिता में प्रदेश की 300 कलाकारों ने भाग लिया जिसमे बाली की संतोष रावल का चयन होना सभी के लिए ख़ुशी की बात है। संतोष इसी ऑडिशन के अगले पड़ाव के लिए दिल्ही के कार्यक्रम में चयन की गई है जहाँ भी राजस्थान की बेटी अपने सुर सगीत से देश में बाली नाम रोशन करेगी

Share This Post

Post Comment